नई दिल्लीः नरेन्द्र मोदी सरकार के जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे के प्रावधान को समाप्त करने के निर्णय के खिलाफ पाकिस्तान द्वारा अंतरराष्ट्रीय समर्थन जुटाने के प्रयास के बीच भाजपा ने मंगलवार को जोर दिया कि कोई प्रमुख मुस्लिम देश इस्लामाबाद के साथ नहीं है क्योंकि वे इसे भारत का आंतरिक विषय मानते हैं. केंद्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने उनकी हाल की सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात और कतर की यात्रा का जिक्र किया और जोर दिया कि इन देशों ने इस मामले में भारत के रूख की पुष्टि की है.

पाकिस्तान ने दुनिया के सामने शांति के बदले विनाश का विकल्प सामने रखाः उपराष्ट्रपति

अनुच्छेद 370 के अधिकांश प्रावधानों को समाप्त करने के निर्णय पर लोगों में जनमत बनाने के भाजपा के महीने भर चले अभियान को लेकर प्रधान ने संवाददाताओं से यह बात कही. उनसे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के भारत विरोधी अभियान के बारे में पूछा गया था. खान पर चुटकी लेते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यहां तक कि पाकिस्तानी मीडिया में भी यह स्पष्ट है कि खान को कितनी सफलता मिली. उन्होंने यह भी कहा कि खान का इस्लामिक देशों के संगठन से समर्थन प्राप्त करने का अभियान भी विफल रहा.

आतंकियों को फंडिंग करने वाले पाक को FATF कभी भी ब्लैक लिस्ट में डाल सकती है : राजनाथ

पेट्रोलियम मंत्री ने कहा, ‘‘ पाकिस्तान को उसके कई पुराने सहयोगियों के साथ ही किसी प्रमुख मुस्लिम देश का समर्थन नहीं मिला. ये देश इस विषय को धार्मिक मुद्दा नहीं बल्कि भारत का आंतरिक मामला मानते हैं. जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा कि अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को समाप्त करने के संबंध में भाजपा के जन जागरण एवं सम्पर्क अभियान को पूरे देश में अच्छा समर्थन मिला है.

पार्टी ने इस बारे में देशभर में 600 से अधिक सार्वजनिक कार्यक्रम किये, जबकि पहले पार्टी ने 370 सभाओं का कार्यक्रम बनाया था. उन्होंने कहा, ‘‘ पार्टी ने इस विषय पर 34 प्रमुख शहरों में रैलियां आयोजित की. ’’उन्होंने कहा कि पार्टी ने जम्मू कश्मीर में सात कार्यक्रम किये और इनमें से एक कार्यक्रम घाटी में था .