नई दिल्ली: भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री जुएल ओराम ने मंगलवार को कहा कि पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ओडिशा में पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे. दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की उपस्थिति में ओडिशा कैडर की आईएएस अधिकारी अपराजिता सारंगी के भगवा पार्टी में शामिल होने के बाद ओराम ने संवाददाताओं से बातचीत के दौरान यह जानकारी दी. ओराम ने कहा कि धर्मेंद्र प्रधान ओडिशा में भाजपा के मुख्यमंत्री पद के दावेदार होंगे. हम उनके नेतृत्व में आगामी विधानसभा और लोकसभा चुनाव लड़ेंगे. हमारा लक्ष्य नवीन पटनायक को सत्ता से बेदखल करना और राज्य में गैर ओडिया नौकरशाहों के शासन को खत्म करना है.

भाजपा की बैठक में शामिल हुए रालोसपा विधायक, मीडिया के सवालों से बनाई दूरी

सारंगी के भाजपा में शामिल होने के बारे में पूछे जाने पर केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्री ने कहा कि वह पार्टी में प्राथमिक सदस्य के तौर पर शामिल हुई हैं. पार्टी के दो वरिष्ठ नेताओं – राउरकेला के विधायक दिलीप रे और पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य बिजय महापात्रा के भाजपा से इस्तीफा देने की अटकलों पर ओराम ने कहा कि यदि वह ऐसा करते हैं तो उनका जाना पार्टी के लिए बड़ा नुकसान होगा. बता दें कि ओडिशा में 2014 में विधानसभा चुनाव हुए थे. साल 2019 में राज्य में चुनाव होने हैं. 147 सीटों वाले इस राज्य में बीजेडी सरकार में है और नवीन पटनायक मुख्यमंत्री हैं.

इस राज्य में एसआई से नीचे रैंक के अधिकारी नहीं कर पाएंगे मोबाइल का इस्तेमाल, DGP ने लगाई रोक

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने यहां 120 सीटें जीतने का ल्क्ष्य रखा है. हालांकि मुख्यमंत्री नवीन पटनायक शाह के इस दावे की खिल्ली उड़ाते रहे हैं. पटनायक ने कहा था कि मेरे ख्याल से यह (शाह का दावा) बहुत बहुत ज्यादा है. मुझे उनके दावे में कोई आधार नहीं दिखता है. अपनी ओडिशा यात्रा के पहले दिन चार अप्रैल को शाह ने राज्य में 120 से ज्यादा सीटें जीतने के भाजपा के लक्ष्य का जिक्र नहीं किया. भाजपा प्रमुख ने पिछले साल सितंबर में राज्य की अपनी यात्रा के दौरान ‘120 से ज्यादा’ सीटें जीतने का लक्ष्य निर्धारित किया था.

(इनपुट-भाषा)