नई दिल्ली: विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि भारत और चीन ने किसी भी ‘गलतफहमी और गलत आकलन’ करने से बचने के लिए जमीनी स्तर पर संवाद कायम रखा है. साथ ही, टकराव वाले सभी इलाकों से सैनिकों को पूर्ण रूप से हटाने के लिए चर्चा जारी है.Also Read - China IOT Market: चीन का आईओटी बाजार 2025 में 300 बिलियन डॉलर के शीर्ष पर पहुंचने की उम्मीद : रिपोर्ट

सीमा विवाद पर चीनी पक्ष के साथ वार्ता की स्थिति के बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि परामर्श एवं समन्वय के लिए कार्यकारी तंत्र (डब्ल्यूएमसीसी) की हालिया बैठक 18 दिसंबर को हुई थी और दोनों पक्ष वरिष्ठ कमांडर स्तर की अगले दौर की बैठक करने को सहमत हुए हैं. Also Read - भारत-रूस ने 28 समझौतों पर किए हस्ताक्षर, आतंकवाद से निपटने में सहयोग बढ़ाने का लिया निर्णय

उन्होंने कहा कि दोनों देश राजनयिक एवं सैन्य माध्यमों से इस सिलसिले में निरंतर संवाद कर रहे हैं. Also Read - शीतकालीन ओलंपिक खेलों का बहिष्कार करेगा अमेरिका, चीन ने दी जवाबी कार्रवाई की धमकी

उन्होंने कहा, ‘‘इस बीच, दोनों पक्षों ने किसी भी गलतफहमी और गलत आकलन करने से बचने के लिए जमीनी स्तर पर संवाद कायम रखा है. साथ ही, शांति एवं स्थिरता बहाल करने के लिए टकराव वाले सभी इलाकों से मौजूदा द्विपक्षीय समझौतों के मुताबिक सैनिकों को पूरी तरह से हटाने को लेकर चर्चा जारी है.’’

(इनपुट भाषा)