बेंगलुरू. गौरी लंकेश की हत्या के मामले की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) को एक ‘हिट लिस्ट’ वाली डायरी मिली है. इसमें फिल्म एवं रंगमंच की हस्ती गिरीश कर्नाड का नाम सबसे ऊपर है. पुलिस ने यह जानकारी दी. कर्नाड कट्टरपंथी हिंदुत्व के मुखर आलोचक रहे हैं. पिछले साल सितंबर में लंकेश की हत्या के बाद से उनकी सुरक्षा बढ़ा दी गई. डायरी में जो हिट लिस्ट दर्ज है, उसमें लंकेश का नाम दूसरे स्थान पर था. उनकी हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार किए गए संदिग्धों के पास से पिछले महीने यह डायरी बरामद हुई.

एसआईटी के एक सदस्य ने कहा, ‘‘एक कट्टरपंथी समूह द्वारा तैयारी की गई एक सूची मिली है, जिसमें उन लोगों के शामिल है जिन्हें वह निशाना बनाना चाहते थे. सूची में कर्नाड और लंकेश के नाम क्रमश: पहले एवं दूसरे स्थान पर हैं. हम जांच कर रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि यह सूची देवनागरी लिपि में लिखी है.

सूची में ये नाम शामिल
सूची में शामिल अन्य लोगों में नेता-साहित्यकार बी टी ललिता नाइक, निदुममिदी मठ के पुजारी वीरभद्र चन्नामल्ला स्वामी और तर्कवादी सी एस द्वारकानाथ हैं. ये सभी दक्षिणपंथी हिंदुत्व विचारधारा के कटु आलोचक हैं. डायरी मिलने और हिट लिस्ट में नाम सबसे ऊपर होने को लेकर प्रतिक्रिया के लिए संपर्क किए जाने पर कर्नाड ने कहा, ‘मेरी इसमें कोई रूचि नहीं है. शुक्रिया.

10 संदिग्ध गिरफ्तार
इसी बीच एसआईटी ने लंकेश हत्या मामले में 10 वें संदिग्ध को गिरफ्तार किया. राजेश डी बंगेरा (50) को 23 जुलाई को कोडागू जिले के मादिकेरी इलाके में गिरफ्तार किया. उसे मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया जिन्होंने उसे छह अगस्त तक के लिए एसआईटी की हिरासत में भेज दिया. पुलिस ने हत्या मामले में बंगेरा की भूमिका के बारे में नहीं बताया लेकिन कहा कि वह गिरफ्तार संदिग्धों अमोल काले और अमित देगवेकर के संपर्क में था.