प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बारे में अशब्द कहने के कारण एक दिव्यांग के साथ कथित तौर पर बदसलूकी करने वाले भाजपा नेता ने सफाई दी है. भाजपा नेता मोहम्मद मिया ने कहा कि उक्त व्यक्ति शराब के नशे में था और वह पीएम मोदी व सीएम योगी के बारे में अपशब्द कह रहा था. मिया ने कहा कि उन्होंने पहले उसे समझाने की कोशिश. लेकिन वह नहीं माना. यह भाजपा को बदनाम करने की साजिश है. वह उसे वहां से हटाने की कोशिश कर रहे थे. उन्होंने उसके मुंह में लाठी नहीं घुसेड़ी.

दरअसल, सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें भाजपा के एक नेता एक दिव्यांग व्यक्ति के साथ बदसलूकी कर रहे हैं. यह घटना उत्तर प्रदेश के संभल जिले के कलेक्ट्रट ऑफिस परिसर का है. पीड़ित की पहचान मनोज गुर्जर के रूप में हुई है. वह चंदौसी जिले के खुरजा गेट इलाके का रहने वाला है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक भाजपा नेता मोहम्मद मिया दिव्यांग को लाठी से पीट रहे थे. पीड़ित कह रहा था कि वह केवल अखिलेश यादव को वोट देगा. हालांकि जब गुर्जर ने पीएम मोदी और सीएम योगी को भला-बुरा कहा तो मिया ने अपनी गाड़ी से लाठी खींचकर कथित तौर पर उसकी पिटाई कर दी.

संभल के एसपी के मुताबिक मिया के खिलाफ कई आपराधिक मुकदमें चल रहे हैं. वह असमोली पुलिस थाने का हिस्ट्री शीटर है. इतना ही नहीं एसडीएम जो जब इस घटना की जानकारी मिली तो उन्होंने शांति भंग करने के आरोप में गुर्जर को ही गिरफ्तार करने का आदेश दिया लेकिन बाद में उसे मंगलवार को रिहा कर दिया गया. मिया का कहना है कि वह भाजपा नेताओं के लिए गाली-गलौच कर रहा था. उन्होंने आपा खो दिया. अब वह गुर्जर से सार्वजनिक रूप से माफी मांगने को तैयार है.