नई दिल्ली: कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने खेद जताया कि उन्होंने पाकिस्तान के एक पुल की तस्वीर ट्वीट करके उसे भोपाल का रेलवे पुल होने का दावा किया. कुछ दिनों पहले अभिनेत्री शबाना आजमी ने भी एक असत्यापित ट्वीट को लेकर ऐसी ही गलती की थी. सिंह ने रविवार को पुल के एक पिलर की तस्वीर ट्वीट की थी जिसमें दरारें थीं. उन्होंने लिखा था ‘‘यह पिलर भोपाल में सुभाष नगर रेल फाटक पर बन रहे रेल पुल का है. पिलर पर दरारों से उसकी गुणवत्ता पर सवाल उठते हैं. मैं उम्मीद करता हूं कि जो वाराणसी में हुआ वो यहां नहीं होगा.’’

ट्विटर पर पोस्ट की गई जानकारी की जांच करने वाली वेबसाइट ‘एल्टन्यूज’ ने सिंह का ध्यान इस गलती की ओर आकृष्ट किया और कहा कि यह पाकिस्तान के रावलपिंडी के क्षतिग्रस्त मेट्रो पिलर की पुरानी तस्वीर है. ‘एल्टन्यूज’ ने ट्वीट में लिखा, ‘‘क्षतिग्रस्त पिलर की तस्वीर सोशल मीडिया पर कई बार इस्तेमाल की गई है और हर बार इसे अलग-अलग जगह का बताया जाता हे.’’ इसके जवाब में सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘मैं खेद जताता हूं. मेरे एक मित्र ने इसे मुझे भेजा था. मेरी गलती है कि मैंने इसकी जांच नहीं की.’’

गत चार जून को शबाना आजमी ने भी इसी तरह की गलती करते हुए एक वीडियो ट्विटर पर साझा किया था जिसमें कुछ लोग गंदे पानी में बर्तन धोते दिख रहे थे. यह मानते हुए कि वे रेलवे कर्मचारी हैं उन्होंने रेल मंत्री पीयूष गोयल को टैग कर दिया था. अगले दिन भारतीय रेलवे ने एक स्पष्टीकरण जारी किया था और कहा था कि वीडियो में दिखाये गए लोग मलेशिया के एक रेस्त्रां के कर्मचारी हैं. इसके बाद अभिनेत्री ने खेद जताया था.