नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आंध्र प्रदेश के लिए प्रभारी महासचिव की भूमिका निभा रहे पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के स्थान पर केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमन चांडी की नियुक्ति कर दी है. इसके साथ ही राहुल ने पूर्व केंद्रीय मंत्री सीपी जोशी को पश्चिम बंगाल और अंडमान निकोबार के प्रभारी पद से मुक्त कर गौरव गोगोई को यह जिम्मेदारी सौंपी. कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत की ओर से जारी बयान के मुताबिक, दिग्विजय सिंह के स्थान पर चांडी और जोशी के स्थान पर गोगोई की नियुक्ति तत्काल प्रभाव से की गयी है Also Read - Video: दिग्विजय सिंह बोले- नीतीश जी को तेजस्वी यादव के लिए सीएम पद की अनुशंसा कर देनी चाहिए

बता दें कि दिग्विजय सिंह पहले नर्मदा यात्रा पर थे. इस दौरान वह राजनीति से पूरी तरह अलग थे और उन्होंने किसी तरह की राजनीतिक टिप्पणी भी नहीं की. यात्रा की समाप्ति के बाद से ही वह मध्यप्रदेश की राजनीति में सक्रिय हो गए. उन्हें चुनाव समन्वय समिति का अध्यक्ष भी बनाया गया है. ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि वह मध्यप्रदेश चुनाव पर ही फोकस करेंगे. कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक, दिग्विजय सिंह ने खुद ही शीर्ष नेतृत्व से कहकर अपना प्रभार वापस ले लिया है. Also Read - दिग्विजय और कमलनाथ को ‘चुन्नू-मुन्नू’ बताया, बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय को चुनाव आयोग का नोटिस

बता दें कि दिग्विजय सिंह मध्यप्रदेश के सीएम रह चुके हैं. इसके अतिरिक्त कहा जाता है कि उन्हें राज्य की राजनीतिक, भौगोलिक और सामाजिक चीजों की अच्छी समझ है. इस साल के अंत में राज्य में चुनाव होने वाले हैं. ऐसे में वह अपना पूरा योगदान राज्य में ही देना चाहते हैं. Also Read - MP Bypolls 2020: कमलनाथ का सीएम पर कटाक्ष, बोले- "अभिनय" में तो शाहरुख और सलमान को भी मात दे सकते हैं शिवराज सिंह चौहान