सतना. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने सरकार को चुनौती दी कि अगर माओवादियों के साथ उनका कोई संबंध है तो सरकार उन्हें गिरफ्तार कर सकती है. सिंह ने सतना में संवाददाताओं से बातचीत में कहा, “अगर मैं दोषी हूं तो मैं केंद्र और राज्य सरकार को चुनौती देता हूं कि वे मुझे गिरफ्तार करके दिखाएं.” Also Read - राफेल को लेकर दिग्विजय सिंह ने पीएम पर साधा निशाना, ट्वीट में लिखा 'चोकीदार जी अब तो बता दो कितने में खरीदा?'

दिग्विजय सिंह ने कहा, “पहले उन्होंने मुझे राष्ट्र-विरोधी बताया था, अब नक्सली बता रहे हैं. अगर ऐसा है तो मुझे यहीं गिरफ्तार कीजिए. उन्होंने आरोप लगाया कि वाम कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी ‘गुजरात मॉडल के शासन’ का उदाहरण है. Also Read - कांग्रेस से BJP में गईं मंत्री इमरती देवी ने कहा- दिग्विजय और कमलनाथ नाग हैं, ज्योतिरादित्य सिंधिया शेर हैं

मनीष तिवारी ने भी साधा निशाना
वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा, ‘भारतीय जनता पार्टी ने जो प्रेस वार्ता की है जिसमें कुछ तथाकथिक आरोप लगाए गए हैं. ये आरोप इस बात की पुष्टि करते हैं कि देश में अघोषित आपातकाल है.’ उन्होंने कहा, अब क्या भारतीय जनता पार्टी इस देश में जांच एजेंसी का काम कर रही है? अगर पुलिस के किसी छापे में कोई तथाकथित कागज बरामद होते हैं, वे भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता के पास कैसे आ जाते हैं, इस चीज की जांच होनी चाहिए. Also Read - सिंधिया, दिग्विजय सहित 61 राज्यसभा सदस्य 22 जुलाई को ले सकेंगे शपथ

अदालत की निगरानी में होनी चाहिए जांच
तिवारी ने कहा, आरोप पत्र एक सार्वजनिक दस्तावेज होता है, लेकिन इस मामले में अभी आरोपपत्र दायर ही नहीं हुआ है. कागज गलत है या सही है ये प्रमाणित होने के पहले वो भारतीय जनता पार्टी के पास आ जाते हैं ताकि दुष्प्रचार के लिए उनका पूर्ण इस्तेमाल हो सके. उन्होंने कहा कि ‘अदालत की निगरानी में’ इसकी जांच होनी चाहिए.