कोलकाता: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता दिलीप घोष एक बार फिर पार्टी की बंगाल इकाई के प्रमुख चुने गए हैं. पार्टी सूत्रों ने इस बात की जानकारी दी. लंबे समय तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के प्रचारक रहे घोष सर्वसम्मति से अध्यक्ष पद पर दोबारा निर्वाचित हुए. वह वर्ष 2015 में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष चुने गए थे. वह वर्ष 2014 में संघ से भाजपा में भेजे गए थे. बंगाल इकाई की कमान संभालने से पहले वह पार्टी महासचिव थे.

बीते दिनों दिलीप घोष ने विवादित बयान दिया था. इस बयान के बाद सभी पार्टियां दिलीप घोष के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रही थीं. बता दें कि दिलीप घोष ने नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों को पर कहा था कि जिस तरह उत्तर प्रदेश में उपद्रवियों को गोली मारी गई, उसी तरह वह बंगाल में भी अराजक तत्वों को कुत्तों की तरह गोली मारेंगे.

बता दें कि एक बार फिर दिलीप घोष ने प्रेस कॉन्फ्रेस में अपनी बात को रखा. कलकत्ता में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने अपने शब्दों पर परहेज करते हुए कहा कि अगर हम सत्ता में आए तो देश विरोधी लोग जो सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचा रहे हैं, उनको लाठियों से मारेंगे, गोली मारेंगे और जेल भेजेंगे. बता दें कि देशभर में नागरिकता कानून के खिलाफ व्यापक रूप से विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा है.