नयी दिल्ली: अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते राजनीतिक तनाव के बीच, भारत के विमानन नियामक डीजीसीए ने शनिवार को कहा कि भारतीय एयरलाइनों ने ‘ईरानी हवाई क्षेत्र के प्रभावित हिस्से’ से बचने और उड़ान मार्ग को उपयुक्त ढंग से पुन:निर्धारित करने का फैसला किया है. Also Read - पाक ने पुलवामा की साजिश स्‍वीकार करके की बड़ी गलती, अब भारत उठाएगा ये कदम

Also Read - संन्यास लेने के बाद पाक गेंदबाज ने कहा- भारत को 2011 विश्व कप सेमीफाइनल में नहीं हरा पाने का अफसोस

  Also Read - 'बाबा का ढाबा' पर फिर पसरा सन्नाटा, चार दिनों की रौनक के बाद अब ऐसा है ढाबे और बाबा का हाल

डीजीसीए ने ट्विटर पर कहा कि डीजीसीए के परामर्श से सभी भारतीय एयरलाइन संचालकों ने यात्रियों के लिए सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करने के लिए ईरानी हवाई क्षेत्र के प्रभावित हिस्से से बचने का फैसला किया है. अमेरिकी विमानन नियामक, संघीय विमानन प्रशासन (एफएए) ने शुक्रवार को एयरमैन को एक नोटिस (नोटम) जारी किया, जिसमें अग्रिम सूचना मिलने तक अमेरिका में पंजीकृत विमानों के ईरान के हवाई क्षेत्र से होकर जाने पर रोक लगा दी गई.

ईरान की चेतावनी- अगर इस्लामी गणतंत्र पर एक भी गोली चली, तो अमेरिका भुगतेगा बुरे परिणाम

गौरतलब है कि क्षेत्र में सैन्य गतिविधियां तेज होने के चलते अमेरिका और ईरान के बीच तनाव काफी बढ़ गया है.