लखनऊ: यूपी के शाहजहांपुर में ऐसी घटना सामने आई है जिसे सुनकर आपके होश उड़ जाएंगे. शाहजहांपुर की एक महिला ने चार बेटियों के साथ मिलकर अपने शौहर जो कि एक दारोगा थे, उनको ही मौत के घाट उतार दिया. इसके बाद उसके शव को नाले में फेंक दिया. इस मामले में शाहजहांपुर पुलिस ने दारोगा की पत्नी और उसकी चार बेटियों को गिरफ्तार किया है.Also Read - अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरि मृत मिले, पुलिस ने बताई आत्महत्या, शिष्य बोले- मर्डर है

Also Read - नदियों को जिंदा करने के लिए कराई गई आम से इमली की शादी, बैलगाड़ियों पर सवार होकर आए 400 मेहमान

यूपी के शाहजहांपुर में लापता दारोगा की गोली मारकर हत्‍या, नाले में मिला शव Also Read - UP विधानसभा अध्यक्ष का वीडियो वायरल, कम कपड़े, महात्‍मा गांधी और राखी सावंत का जिक्र, ट्वीट कर दी ये सफाई

शाहजहांपुर के पुलिस अधीक्षक (नगर) दिनेश त्रिपाठी ने बताया कि वायरलेस ऑपरेटर के पद पर तैनात दारोगा मेहरबान अली (59) का शव गत 24 जून को शहर के जलाल नगर में एक नाले में पड़ा मिला था. इस मामले में दारोगा की पत्नी जाहिदा और बेटियों जीनत, इरम, आलिया तथा सबा को गिरफ्तार किया गया है. त्रिपाठी ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज से घटना का खुलासा हुआ. दारोगा मेहरबान अली की पत्नी जाहिदा के मुजफ्फरनगर में रहने वाले अपने बहनोई फारुख से अवैध संबंध थे. अली इसका विरोध करता था. साथ ही वह अपनी बेटियों के कथित भड़काऊ कपड़े पहनने पर एतराज जताता था.

50 हजार में किया शौहर की मौत का सौदा

उन्होंने बताया कि जाहिदा ने मुजफ्फरनगर में रहने वाले तहसीन और कासिम से सम्पर्क करके 50 हजार रुपये में अली की हत्या का सौदा तय किया. अली को गत 23 जून को भाड़े के दोनों हत्यारों ने गला दबाकर मार डाला था. इस दौरान जाहिदा और उसकी चारों बेटियां भी मौजूद थीं. त्रिपाठी के मुताबिक हत्या के बाद अली के शव को 11 घंटे तक घर में ही रखा गया और रात में मौका पाकर उसे एक नाले में फेंक दिया गया. उन्होंने बताया कि पुलिस ने आरोपी जाहिदा तथा उसकी चारों बेटियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है. हत्यारोपी तहसीन और कासिम फरार हैं. उनकी तलाश की जा रही है.