नई दिल्ली: भारतीय पर्यावरण कार्यकर्ता दिशा रवि (Ravi Disha) की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली हाईकोर्ट ने मीडिया में चल रहीं ख़बरों को लेकर टिप्पणी की है. दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi Highcourt) ने कहा कि मीडिया ये सुनिश्चित करे कि सिर्फ सत्यापित सामग्री ही प्रकाशित और प्रसारित की जाए. वह जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि (Disha Ravi) के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी के सिलसिले में चल रही जांच को बाधित न करे.Also Read - Bulli Bai App Case: बुल्ली बाई एप के आरोपी सु्ल्ली डील एप में भी थे शामिल, मुंबई पुलिस ने कोर्ट को दी ये जानकारी

बता दें कि दिशा रवि की तरफ से दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी कि दिल्ली पुलिस मामले की जानकारी लीक न करे और मीडिया में चल रहीं असत्यापित जानकारी भी रोकी जाए. इसे लेकर हाईकोर्ट ने सुनवाई की. दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस के किसी भी ट्वीट अथवा समाचार सामग्री को इस स्तर पर हटाने का आदेश देने से इनकार किया. दिल्ली हाई कोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिया कि वह अपने इस रूख पर सख्ती से कायम रहे कि जांच संबंधी जानकारी उसने लीक नहीं की और न ही उसका ऐसा कोई इरादा है. Also Read - गाजीपुर में IED मिलने का मामला: टेलीग्राम पर अलकायदा से जुड़े संगठन ने ली जिम्मेदारी, दिल्ली पुलिस जांच में जुटी

Also Read - Traffic advisory Republic Day Parade 2022: गणतंत्र दिवस परेड रिहर्सल को लेकर ट्रैफिक एडवाइजरी जारी, दिल्ली के इन रास्तों पर आवाजाही रहेगी बंद

बता दें कि किसानों के समर्थन करने वालीं दिशा रवि को एक टूलकिट शेयर करने पर अरेस्ट किया गया है. पुलिस का दावा है कि दिशा रवि और उनके सथित्यों ने ही टूलकिट बनाई थी. दिशा रवि और इनके साथियों की साजिश थी कि दिल्ली में ट्रेक्टर रैली के दौरान हिंसा और अशांति फैले.