नई दिल्ली: टूलकिट मामले में गिरफ्तार क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा रवि (Disha Ravi) की जमानत याचिका पर दिल्ली के पटियाला हाईकोर्ट सुनवाई चल रही है. बता दें कि इसी मामले में दिल्ली पुलिस द्वारा पटियाला हाईकोर्ट में दिशा की न्यायिक हिरासत की मांग की गई थी, जिसे कोर्ट ने स्वीकार किया और दिशा को 3 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. लेकिन अब उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई हो रही है.Also Read - Toolkit Case: तिहाड़ से रिहा हुई दिशा रवि, कोर्ट ने जमानत देते हुए कहा था, 'सिर्फ इसलिए जेल नहीं भेजा जा सकता क्योंकि...'

बता दें कि दिशा को न्यायिक हिरासत में भेज जाने के बाद क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग दिशा के समर्थन में आ गईं और उन्होंने अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल पर एक ट्वीट किया. ग्रेटा ने अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा कि बोलने की आजादी, शांतिपूर्ण प्रदर्शन, जनसभा ये सब करना मानवाधिकार है. यह लोकतंत्र का मूल हिस्सा होना चाहिए. बता दें कि ग्रेटा ने अपने ट्वीट में #StandWithDishaRavi हैशटैग का प्रयोग भी किया. Also Read - टूलकिट' मामला: दिशा रवि को मिली बेल, अब शांतनु मुलुक ने भी मांगी अग्रिम जमानत

बता दें कि ग्रेटा द्वारा ही किसान आंदोलन के समर्थन में टूलकिट को साझा किया गया था. जिसमें किसान आंदोलन को और आगे बढ़ाने की योजना दी गई थी. गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस ने दिशा रवि को 13 फरवरी को बेंगलुरू से गिरफ्तार किया था. टूलकिट मामले पर दिल्ली पुलिस का कहना है कि दिशा रवि के साथ साथ शांतनु मुलुक और निकिता जैकब ने भी किसान आंदोलन से संबंधित इस टूल किट को एडिट किया था. बता दें कि इस टूलकिट में किसान आंदोलन को और बढ़ाने की योजना थी. Also Read - Toolkit case: टूलकिट मामले में दिशा रवि को जमानत, पटियाला हाउस कोर्ट से मिली राहत