नई दिल्ली. कांग्रेस सोशल मीडिया इंचार्ज दिव्या स्पंदना के इस्तीफे की खबर पर उनका जवाब आ गया है. इकॉनमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने सीधे-सीधे इनकार कर दिया है कि न तो उन्होंने इस्तीफा दिया है और न ही उन्हें हटाया गया है. राम्या सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं, लेकिन पिछले तीन दिन से उन्होंने एक भी ट्वीट नहीं किया है. यहां तक कि उन्होंने अपने बायो से भी सोशल मीडिया इंचार्ज हटा दिया है.

बता दें कि सोशल मीडिया पर ये खबर तेजी से वायरल हो रही थी कि दिव्या स्पंदना कांग्रेस सोशल मीडिया सेल से इस्तीफा दे दिया और संभवत: उन्हें बीजेपी ज्वाइन करने का सुझाव मिल रहा है. दिव्या ने इस पर कहा कि मुर्ख लोग इस तरह की बात कर रहे हैं.

दरअसल, दिव्या ने 29 सितंबर को आखिरी ट्वीट किया था. इसके बाद से 3 अक्टूबर तक उन्होंने कोई ट्वीट नहीं किया. यहां तक कि गांधी और शास्त्री जयंती पर भी उनका ट्वीट नहीं आया और वर्धा में हुए कांग्रेस के कार्यक्रम को भी लेकर उन्होंने कोई ट्वीट नहीं किया. इसके पहले वह हर मौके पर ट्वीट करती रहती थीं. हालांकि, सोशल मीडिया में उनके इस्तीफे की बात आने के बाद उन्होंने राहुल गांधी के ट्वीट को रीट्वीट किया है और एक तरह से संकेत देने की कोशिश की है कि वह अभी भी अपने पद पर बनी हुई हैं.

पिछले हफ्ते ही विवादों में घिरी थीं
दिव्या स्पंदना ने पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए एक आपत्तिजनक ट्वीट की थी. इसे लेकर स्पंदना के खिलाफ लखनऊ में देशद्रोह और आईटी एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है. दिव्या के इस्तीफे की बात यहीं से निकल कर आ रही थी, जिसमें कहा जा रहा था कि इसी विवाद के कारण दिव्या को हटाया जा रहा है.

अधिवक्ता ने ये कहा था
प्राथमिकी दर्ज कराने वाले अधिवक्ता सैय्यद रिजवान अहमद ने कहा था कि ‘दिव्या का ट्वीट अपमानजनक था. प्रधानमंत्री का पद हमारे देश की संप्रभुता और गणराज्य का द्योतक है. स्पंदना का ट्वीट हमारे देश का अपमान है. उन्होंने इस पद और देश की अवमानना की है.