नई दिल्ली: द्रमुक सांसद ए राजा ने सोमवार को लोकसभा में कहा कि देश में बेरोजगारी की स्थिति यह है कि एमबीए डिग्रीधारी युवक को रेलवे में खलासी और एमएससी (गणित) की पढ़ाई करने वाले छात्र को मद्रास नगर निगम में सफाईकर्मी की नौकरी करनी पड़ रही है. ऐसे में सरकार को रोजगार बढ़ाने के लिए प्रयास करने चाहिए. Also Read - Covid-19: कोरोना के खिलाफ एकजुटता दिखाने के लिए आज दीप जलाएगा भारत, उपराष्ट्रपति ने देशवासियों से की अपील

सदन में देश में पंजीकृत बेरोजगार व्यक्तियों की संख्या में वृद्धि से जुड़ा पूरक प्रश्न पूछने के दौरान राजा ने कहा कि बेरोजगारी की स्थिति यह है कि एमएसी (गणित) की पढ़ाई करने वाले एक छात्र को मद्रास नगर निगम में सफाईकर्मी की नौकरी करनी पड़ी. उन्होंने कहा कि मैकेनिकल इंजीनियरिंग और एमबीए डिग्रीधारी व्यक्ति को रेलवे में खलासी के तौर पर काम करना पड़ रहा है. Also Read - कोरोना के चौंकाने वाले आंकड़े! दुनियाभर में 59 हजार से अधिक लोगों की मौत, 11 लाख से ज्यादा संक्रमित

इस पर श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने कहा कि इस सरकार में लोगों को बड़े पैमाने पर रोजगार मिला है और इसके साथ ही यह सरकार लोगों को रोजगार देने के लायक बनाने की दिशा में काम कर रही है. पूरक प्रश्न पूछते हुए अदूर प्रकाश ने सरकार से बेरोजगारी की स्थिति पर श्वेत पत्र लाने की मांग की. इसके जवाब में गंगवार ने कहा कि सदस्य बेरोजगारी को लेकर जो आंकड़े चाहते हैं वो उन्हें उपलब्ध करा दिए जाएंगे. Also Read - Coronavirus: बीते 24 घंटे में सबसे ज्‍यादा 478 संक्रमण के मामले आए, कुल आंकड़ा 2500 के पार