नई दिल्लीः कोरोना वायरस फैलने के खतरे के बीच दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन (डीएमआरसी) ने सोमवार को कहा कि प्रतिदिन यात्रियों के लिए सेवा शुरू करने से पहले डिपो में सभी ट्रेनों की साफ सफाई कराने की प्रक्रिया अपनाई गई है. डीएमआरसी के अधिकारी अनुज दयाल ने एक वक्तव्य में कहा कि हाल ही में कोरोना वायरस फैलने के खतरे को देखते हुए इस प्रक्रिया में वृद्धि की गई है. Also Read - Whatsapp का बड़ा फैसला, अब एक से ज्यादा लोगों को मैसेज फॉरवर्ड नहीं कर पाएंगे यूजर्स, ये है बड़ी वजह

उन्होंने बताया कि डीएमआरसी ने हैंड रेलिंग, ट्रेन के दरवाजे इत्यादि की सफाई और उन्हें सैनिटाईज करने पर बल दिया है क्योंकि ऐसी जगहों पर यात्री अपना हाथ रखते हैं. लिफ्ट, स्वचालित सीढ़ियां और हैण्ड रेलिंग की सफाई भी की जा रही है. आपको बता दें कि इससे पहले सीएम केजरीवाल ने दिल्ली में चालित सबों और मैट्रो ट्रेन को पूरी तरह से संक्रमण रहित बनाने की बात कही थी. Also Read - COVID-19: वायरस को मात देकर नर्स ने बताया ठीक होने का 'मंत्र', हॉस्पिटल में तालियां बजाकर मना जश्न

गौरतलब है कि चीन से शुरू हुआ कोराना वायरस अभी तक लगभग 90 से अधिक देशों में फैल चुका है. भारत में भी अभी तक इसके 44 मामले सामने आ चुके हैं. सोमवार को स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने जानकारी दी कि देश में कोरोना वायरस के पांच नये मामले सामने आने के बाद सोमवार को संक्रमित लोगों की कुल संख्या 44 पर पहुंच गई. नब्बे से अधिक देशों में कोरोना वायरस से 1,10,041 लोग संक्रमित पाये गये हैं और इससे 3,825 लोगों की मौत हुई है. Also Read - किचन में केक बनाते नजर आए अर्जुन कपूर, गर्लफ्रेंड मलाइका ने लिखा...

भारत में नये मामलों के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए अधिकारियों ने बताया कि जम्मू में एक मामला सामने आया है. ऐसा ज्ञात हुआ है कि पीड़ित ने ईरान की यात्रा की थी जबकि उत्तर प्रदेश से रोगी आगरा के उन छह लोगों के संपर्क में आ गया था जो कोरोना वायरस की जांच में पॉजिटिव पाये गये थे.

दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमण का चौथा मामला सामने आने के बीच केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने एक बैठक की अध्यक्षता की. बैठक में उपराज्यपाल अनिल बैजल, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे. हर्षवर्धन ने पत्रकारों से कहा कि हम कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सभी राज्यों को व्यापक दिशा-निर्देश भेज रहे हैं और राज्य सरकारों से कहा गया है कि वे कोरोना वायरस से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए प्रयोगशालाओं और निगरानी तंत्र को मजबूत कर प्रशासनिक अमले को भी सचेत एवं सक्रिय रखें.