चेन्नई: तमिलनाडु के अहम राजनीतिक दल द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के प्रमुख एमके स्टालिन ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विदेश यात्राओं पर तंज कसते हुये उन्हें ’’एनआरआई प्रधानमंत्री’’ बताया. स्‍टालिन ने कहा कि मोदी समाजवाद, लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता को नापसंद करते हैं.Also Read - Covid-19 New Variant Omicron: नए वैरिएंट ने मचाई दहशत, पीएम मोदी की अहम बैठक, सतर्कता बरतने का दिया निर्देश

Also Read - Farm Laws Repealed: हरियाणा के सीएम खट्टर ने की पीएम मोदी से मुलाकात, MSP पर कह दी बड़ी बात

अगस्त में द्रमुक की बागडोर संभालने के बाद से ही स्टालिन केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर कडा़ हमला बोलते आ रहे हैं. एक विवाह समारोह में यहां भाग लेने आये स्टालिन ने कहा, ‘‘ मोदी समाजवाद, लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता को पसंद नहीं करते. उनकी पसंद अडानी और अंबानी (उद्योगपति) हैं. हमने अनिवासी भारतीयों के बारे में तो सुना है, लेकिन मोदी अनिवासी प्रधानमंत्री हैं. Also Read - Constitution Day: संसद और सुप्रीम कोर्ट सहित कई समारोहों में शामिल होंगे पीएम मोदी

परिवार पर भारी पड़ी राजनीतिक महत्‍वाकांक्षा: ओम प्रकाश चौटाला ने बेटे अजय को पार्टी से निकाला

द्रमुक प्रमुख ने कहा उन्हें मोदी की ‘‘ 84 विदेश यात्राओं’’ को लेकर चिंता नहीं हैं बशर्ते ये ‘‘परिणाम परक और राष्ट्र के लिए सम्मान का कारण बनतीं.’’ उन्होंने कहा कि इससे केवल करोड़ों रुपये की बर्बादी ही हुई है.

बारिश ने सुधारी दिल्‍ली में वायु की गुणवत्‍ता, ‘गंभीर’ से ‘बहुत खराब’ हुई

स्टालिन ने राज्य में सत्तारूढ़ ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कषगम (अन्नाद्रमुक) पर आरोप लगाया कि वह केंद्र के प्रति सिर झुकाए रखने की प्रवृत्ति को अपनाए हुये है, चाहे वह राज्य में मेडिकल प्रवेश परीक्षा ’’नीट का मामला हो या फिर हिंदी थोपने का’’. हालांकि उन्होंने ये स्पष्ट नहीं किया कि तमिलनाडु में किस तरह से हिंदी थोपी जा रही है. उन्होंने दोहराया कि उन्हें इस बात पर कोई अचरज नहीं होगा अगर राज्य में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एकसाथ करवा दिये जायें.