नई दिल्ली: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप रविवार को भारत की अपनी ऐतिहासिक यात्रा पर रवाना हुए. इस दौरान उन्होंने कहा कि वह भारत के लोगों से मिलने के लिए तत्पर है. अधिकारियों ने कहा कि ट्रंप की इस यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों विशेषकर रक्षा और रणनीतिक सहयोग में और मजबूती आने की उम्मीद है. उन्होंने कहा कि दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतांत्रिक देशों के बीच ‘‘मजबूत और स्थायी संबंध प्रदर्शित होंगे.’’ ट्रंप के साथ उनकी पत्नी मेलानिया, बेटी इवांका और दामाद जेरेड कुशनेर और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी भी हैं. Also Read - India vs England 4th Test: फिर फिरकी के जाल में फंसी इंग्लैंड की टीम, पहले दिन इन 5 मौकों पर टीम इंडिया ने मारी बाजी

भारत यात्रा के लिए रवाना होने से ठीक पहले ट्रंप ने कहा कि वह काफी समय से भारत आने को लेकर प्रतिबद्ध थे और भारत के लोगों से मिलने के लिए तत्पर हैं. ट्रंप ने व्हाइट हाउस के बाहर पत्रकारों से कहा, ‘‘मैं भारत के लोगों से मिलने के लिए उत्सुक हूं. वहां लाखों लोग होंगे. यह एक लंबी यात्रा है. मैं प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी के साथ मुलाकात बहुत अच्छी होती है. वह मेरे दोस्त हैं.’’ Also Read - Ease of Living Index जारी, इन शहरों ने बनाई टॉप 10 में जगह, MPI में नई दिल्‍ली और इंदौर का बेहतर प्रदर्शन

अमेरिकी राष्ट्रपति ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘मैं काफी समय से इस यात्रा के लिए प्रतिबद्ध था. मैं इसे लेकर उत्सुक हूं. मैंने सुना है कि यह एक बड़ा कार्यक्रम होने जा रहा है…ये भारत में अब तक का सबसे बड़ा कार्यक्रम होने जा रहा है. ये बात प्रधानमंत्री ने मुझे बताई. यह बहुत ही रोमांचक होने वाला है. मैं एक रात के लिए वहां जा रहा हूं.’’ Also Read - WATCH: पूर्व इंग्लिश कप्तान माइकल वॉन ने मोटेरा की पिच को लेकर कसा तंज; पोस्ट की 'पिच रिपोर्ट'

ट्रंप की भारत की पहली यात्रा से द्विपक्षी रक्षा और रणनीतिक सहयोग में मजबूती आने की उम्मीद है लेकिन व्यापार शुल्क जैसे जटिल मुद्दों के समाधान को लेकर कोई ठोस परिणाम सामने आने की संभावना नहीं है. व्हाइट हाउस ने ट्वीट किया, ‘‘हम भारत के लिए रवाना हो रहे हैं, जहां डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी का हमारे कई साझा मूल्यों और रणनीतिक / आर्थिक हितों को लेकर पूर्ण एजेंडा है. हम दोनों देशों के बीच मजबूत और स्थायी संबंधों को प्रदर्शित करने के लिए तत्पर है.’’

ये है डोनाल्ड ट्रंप का भारत दौरे का पूरा कार्यक्रम (Donald Trump India Visit 2020)
ट्रंप प्रधानमंत्री मोदी के गृह राज्य गुजरात के अहमदाबाद में आज (सोमवार) दोपहर पहुचेंगे. नवनिर्मित मोटेरा क्रिकेट स्टेडियम पहुंचने से पहले अहमदाबाद में एक भव्य रोड शो में बड़ी संख्या में लोगों के ट्रंप का स्वागत करने की उम्मीद है. ट्रंप के साथ उनकी बेटी इवांका, दामाद जेरेड कुश्नर और उनके प्रशासन के शीर्ष अधिकारी भी होंगे. ट्रंप को उनके गुजरात दौरे के दौरान भारत की सांस्कृतिक झलक मिलेगी. सितंबर 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा के दौरान ह्यूस्टन में ‘’हाउडी मोदी’ कार्यक्रम के बाद से दोनों नेताओं के बीच संबंध और प्रगाढ़ हुए हैं. अपनी इस यात्रा के दौरान ट्रंप महात्मा गांधी के साबरमती आश्रम जाएंगे, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक रोडशो करेंगे और एक क्रिकेट स्टेडियम में लगभग एक लाख लोगों को संयुक्त रूप से संबोधित करेंगे. ट्रंप उसके बाद अपनी पत्नी मेलानिया ट्रंप के साथ ताजमहल देखने के लिए आगरा जाएंगे.

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के सोमवार को पूर्वाह्न लगभग 11:40 बजे सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचने का कार्यक्रम है. वह मोदी के साथ हवाई अड्डे से साबरमती आश्रम और वहां से नवनिर्मित मोटेरा क्रिकेट स्टेडियम तक एक रोडशो में शामिल होंगे. मोटेरा क्रिकेट स्टेडियम में एक लाख से अधिक लोगों के ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम में मौजूद रहने की उम्मीद है. शहर में ‘इंडिया रोड शो’ के 22 किलोमीटर के मार्ग के दोनों ओर बने मंचों पर देश के विभिन्न हिस्सों से आये नृत्य समूह और गायक प्रस्तुति देंगे. ट्रंप की यात्रा के लिए व्यापक तैयारियां की गई हैं. रोड शो के मार्ग में सड़क के दोनों ओर दोनों नेताओं के विशाल होर्डिंग और गुजरात में ऐतिहासिक स्थानों की प्रतिकृतियां भी लगायी गई हैं. रोडशो के मार्ग में बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहेंगे और वे दोनों नेताओं का स्वागत करेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ट्रंप के साथ साबरमती आश्रम जाएंगे. महात्मा गांधी भारत के स्वतंत्रता संग्राम के दौरान 1917-1930 तक साबरमती आश्रम में रहे थे. दस हजार से अधिक पुलिसकर्मियों, यूएस सीक्रेट सर्विस तथा राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) और एसपीजी के कर्मियों को इस हाई प्रोफाइल यात्रा के लिए तैनात किया गया है. ट्रंप देश की यात्रा करने वाले अमेरिका के सातवें राष्ट्रपति हैं. हाल के वर्षों में चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे सहित विश्व के कई नेता साबरमती आश्रम गए हैं. आश्रम के सचिव अमृत मोदी ने कहा कि ट्रंप वहां पर 15 मिनट रहेंगे. आश्रम के एक अधिकारी ने कहा, ट्रंप ‘हृदय कुंज’ भी जाएंगे. यदि वह चाहें तो चरखा भी चला सकते हैं. हम उन्हें एक कॉफी-टेबल बुक और गांधी की 150 उद्धरणों वाली एक पुस्तक भी भेंट करेंगे.’’

‘हृदय कुंज’ आश्रम परिसर स्थित एक कमरा है जहां महात्मा गांधी और उनकी पत्नी कस्तूरबा गांधी 1918 से 1930 के बीच 12 साल तक रहे थे. अधिकारी ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति को गांधीजी और आत्मनिर्भरता के प्रतीक के रूप में चरखा के महत्व के बारे में बताया जाएगा. मोटेरा स्टेडियम में ‘नमस्ते ट्रम्प’ कार्यक्रम के दौरान एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा. इस दौरान ट्रंप और मोदी सभा को संबोधित करेंगे.

बॉलीवुड गायकों कैलाश खेर और पार्थिव गोहिल तथा कीर्तिदान गढ़वी, गीता रबारी, पुरुषोत्तम उपाध्याय और साईराम दवे जैसे गुजराती लोक गायक स्टेडियम में प्रस्तुतियां देंगे. एक अधिकारी ने कहा कि विभिन्न सरकारी और निजी स्कूलों के छात्रों से सांस्कृतिक कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए सम्पर्क किया गया था और वे कई दिनों से अभ्यास कर रहे हैं.

प्रमुख स्थानों पर होर्डिंग लगे हैं जिन पर विभिन्न नारे लिखे हैं. इनमें भारत-अमेरिका संबंधों को ‘दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्र के विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र से मिलने’ तथा ‘उज्ज्वल भविष्य के लिए मजबूत दोस्ती’ जैसे नारे लिखे हैं. साथ ही इन होर्डिंग पर ट्रंप और मोदी की वे तस्वीरें भी हैं. ये तस्वीरें पिछले साल अमेरिका में ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम के दौरान की हैं जिनमें दोनों नेता हाथ पकड़कर चलते हुए भीड़ की ओर हाथ हिलाते नजर आ रहे हैं. शहर का नगर निगम रोड शो को गणमान्य व्यक्तियों के साथ ही गुजरात के लोगों के लिए यादगार बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है.

इसके अलावा ट्रंप का स्वागत करने के लिए अहमदाबाद हवाई अड्डे के बाहर गुजरात के महेसाणा जिले में स्थित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृहनगर वडनगर का 12वीं सदी के ‘कीर्ति तोरण’ का एक कटआउट लगाया गया है. ऐसे में जब शहर आखिरी समय की तैयारियों में जुटा हुआ था कुछ छोटी-मोटी अड़चने भी आयीं. अधिकारियों ने बताया कि मोटेरा में नवनिर्मित क्रिकेट स्टेडियम के बाहर बनाये गए दो अस्थायी वीवीआईपी प्रवेशद्वार रविवार सुबह तेज हवाओं के कारण ढह गए. हालांकि दोनों घटनाओं में कोई भी घायल नहीं हुआ.

ट्रंप और उनका दल हवाई मार्ग से आगरा जाएगा जहां उनके दौरे के लिए पूरी तैयारियां कर ली गई हैं. शहर में बड़े पैमाने पर होर्डिंग लगाने के साथ ही सभी प्रमुख सड़कों पर अमेरिकी और भारतीय झंडे लगाये गए हैं. उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को शाम साढ़े चार बजे खेरिया हवाई अड्डे पर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप का उनके आगमन पर स्वागत करेंगे. वहां लगभग 350 कलाकारों का एक समूह प्रस्तुति भी देगा.

शहर, विशेष तौर पर उस 13 किलोमीटर लंबे रास्ते पर भारी सुरक्षा व्यवस्था की गई है जिसका इस्तेमाल ट्रंप के काफिले द्वारा हवाई अड्डे से ओबेराय अमरविलास होटल और ताजमहल और उसके आसपास जाने के लिए किया जाएगा. आधिकारिक कार्यक्रम के अनुसार अमेरिकी राष्ट्रपति सोमवार को शाम सवा पांच बजे अपने परिवार के साथ ताजमहल परिसर पहुंचेंगे और मुगल सम्राट शाहजहाँ द्वारा निर्मित 17वीं सदी के प्रसिद्ध मकबरे में लगभग एक घंटा बिताएंगे.

ताजमहल का दीदार करेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति
अहमदाबाद से अमेरिकी राष्ट्रपति ताजमहल का दीदार करने के लिए आगरा की यात्रा करेंगे. ट्रंप परिवार ताजमहल में लगभग एक घंटा बितायेगा. इसके बाद वे दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे. ट्रंप और अमेरिका की प्रथम महिला का 25 फरवरी को राष्ट्रपति भवन में परंपरागत स्वागत किया जायेगा. वहां से वे महात्मा गांधी की ‘समाधि’ पर श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए राजघाट जाएंगे. इसके बाद हैदराबाद हाउस में ट्रंप और मोदी के बीच प्रतिनिधि स्तर की वार्ता होगी. दोपहर में ट्रंप के अमेरिकी दूतावास में कई निजी कार्यक्रमों में भी भाग लेने की उम्मीद है. ट्रंप शाम को राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलेंगे. कोविंद द्वारा एक भोज दिया जायेगा. राष्ट्रपति ट्रम्प उसी शाम बाद में भारत से रवाना होंगे.

ट्रंप और प्रधानमंत्री मोदी के बीच मंगलवार को होगी वार्ता
भारतीय और अमेरिकी अधिकारियों के अनुसार ट्रंप और प्रधानमंत्री के बीच मंगलवार को होने वाली वार्ता के दौरान व्यापार और निवेश, रक्षा एवं सुरक्षा, आतंकवाद विरोधी अभियान, ऊर्जा सुरक्षा, धार्मिक स्वतंत्रता, अफगानिस्तान में तालिबान के साथ प्रस्तावित शांति समझौता, भारत-प्रशांत क्षेत्र में स्थिति समेत कई द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर ध्यान केन्द्रित किये जाने की संभावना है. अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल में वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस, ऊर्जा मंत्री डैन ब्रोइलेट और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ’ब्रायन शामिल हैं. भारत में अमेरिकी राजदूत केन जेस्टर भी प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा हैं.

ट्रम्प की यात्रा के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने जारी किया यातायात परामर्श
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा के मद्देनजर सुरक्षा उपायों के कारण राष्ट्रीय राजधानी के कुछ हिस्सों में सोमवार को यातायात प्रभावित होने की संभावना है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. ट्रंप अपने परिवार समेत उच्च स्तरीय शिष्टमंडल के साथ सोमवार को 36 घंटे के भारतीय दौरे पर भारत आ रहे हैं. दिल्ली पुलिस द्वारा जारी परामर्श में कहा गया है कि 24 फरवरी की शाम को सुरक्षा कारणों के कारण दिल्ली छावनी, दिल्ली-गुड़गांव मार्ग (एनएच 48), धौला कुआं, चाणक्यपुरी, एसपी मार्ग, आरएमएल गोल चक्कर और आस-पास के क्षेत्रों में ट्रैफिक प्रभावित हो सकता है.

परामर्श के अनुसार मंगलवार को दोपहर से शाम चार बजे तक मोती बाग, चाणक्यपुरी, इंडिया गेट, आईटीओ के आसपास के क्षेत्रों, दिल्ली गेट, मध्य दिल्ली और नयी दिल्ली के आस-पास के क्षेत्रों में यातायात प्रभावित होने की संभावना है. शाम को चाणक्यपुरी, आरएमएल गोल चक्कर, धौला कुआं, दिल्ली छावनी, दिल्ली-गुड़गांव रोड (एनएच 48) और आस-पास के क्षेत्रों में भी यातायात प्रभावित हो सकता है. दिल्ली यातायात पुलिस ने मोटर चालकों और यात्रियों से आग्रह किया है कि वे इन क्षेत्रों में यात्रा करने की योजना बनाते समय इन बातों को ध्यान में रखें. यात्रियों को आवश्यक यातायात बदलावों की जानकारी के लिए दिल्ली यातायात पुलिस की वेबसाइट और इसके ट्विटर हैंडल को चेक करते रहने की सलाह दी गई है.

(इनपुट भाषा)