नई दिल्ली: द एनर्जी एंड रिसोर्सेज इंस्टीट्यूट (टेरी) के पूर्व प्रमुख आर के पचौरी का लंबे समय तक हृदय रोग से जूझने के बाद बृहस्पतिवार को निधन हो गया. टेरी के महानिदेशक अजय माथुर ने यह जानकारी दी. वह 79 वर्ष के थे. Also Read - 'Can India Rejuvenate Ganga' में बोले पर्यावरणविद, बांध-बैराज गंगा नदी के प्रवाह को बाधित कर रहे हैं

  Also Read - Environmentalist Anupam Mishra No More |प्रख्यात पर्यावरणविद् गांधीवादी अनुपम मिश्र नहीं रहे

टेरी की ओर से जारी बयान में माथुर ने कहा कि अत्यंत दुख के साथ सूचित किया जाता है कि टेरी के संस्थापक निदेशक आर के पचौरी का निधन हो गया है. दुख की इस घड़ी में पूरा टेरी परिवार डॉक्टर पचौरी के परिवार के साथ खड़ा है. 2015 में पचौरी के बाद टेरी के प्रमुख बने माथुर ने कहा कि टेरी आज जहां है, डॉक्टर पचौरी के अथक प्रयासों के कारण है. उन्होंने इस संस्था को विकसित करने और एक प्रमुख वैश्विक संगठन बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

2015 में महिला सहकर्मी ने लगाया था यौन उत्पीड़न का आरोप
पचौरी की एक महिला सहकर्मी ने 2015 में उन पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था, जिसके बाद उन्होंने टेरी के प्रमुख के पद से इस्तीफा दे दिया था.