नई दिल्ली: भारत में घातक नोवल कोरोना वायरस से प्रभावित लोगों की संख्या 31 हो गई है, जिसके कारण लोगों के अंदर डर का माहौल है. भय के कारण लोग इंटरनेट के माध्यम से फैलने वाले अफवाहों को सच मानने लगे हैं. इन्हीं अफवाहों के बीच घातक वायरस से बचने के लिए शराब का सेवन करने का खबर फैल रहा है और बताया जा रहा है कि शराब के सेवन से कोरोना के कीटाणु मर जाते हैं. Also Read - कोरोना वायरस: वाराणसी के कुछ ग्रामीण क्षेत्रों को सील किया गया, हर मोहल्ले में लगाए गए बैरिकेड

हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) के अनुसार यह सच नहीं है. कोरोना वायरस को लेकर फैलती झूठी खबर और गलतफहमी की काल्पनिक बातों को तोड़ते हुए डब्लूएचओ ने कहा कि शरीर में वायरस जाने के बाद, क्लोरीन या शराब के छिड़काव से कोई भी वायरस नहीं मरते हैं. Also Read - दीया जलाने के दौरान बीजेपी महिला जिला अध्यक्ष ने की थी फायरिंग, FIR दर्ज, अब मांग रहीं माफी

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, इस तरह के पदार्थों का छिड़काव कपड़े ,आंख और मुंह के लिए हानिकारक है. उन्होंने आगे कहा कि ध्यान रखें कि क्लोरीन और शराब का इस्तेमाल कीटाणुनाशक सतह के लिए लाभकारी हैं लेकिन इनका इस्तेमाल विशेषज्ञों की सलाह पर करें. Also Read - खाली स्टेडियम में क्रिकेट मैच के आयोजन के सवाल पर बिफरा ये पाकिस्तानी दिग्गज, कहा-मैं इस सुझाव...

संगठन के अनुसार, नए कोरोना वायरस से बचने के लिए बार-बार अपने हाथों की सतह पर अल्कोहल आधारित हैंड वाश का इस्तेमाल करें, और उसे साबुन और पानी से धोएं. डब्लूएचओ ने खुलासा करते हुए कहा कि गर्म पानी से नहाने पर आप नए कोरोना वायरस से नहीं बच सकते हैं. यह वायरस चाइना में निर्मित वस्तुओं से नहीं फैलता है.

अब तक पूरे विश्व में घातक कोरोना वायरस के चपेट में 100,000 से भी ज्यादा लोग आए हैं और 3,000 से भी ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. शनिवार तक, पूरे विश्व में कोरोना वायरस के 101,492 मामले सामने आए हैं और 3,485 लोगों की मौत हुई है.