पणजी: गोवा में मस्ती करने की अगर आप सोच रहे हैं तो आपको यह जान लेना चाहिए कि यहां समुद्री तटों समेत खुले स्थानों पर शराब पीना और खाना बनाना जैसी गतिविधियों पर प्रतिबंध है. अगर आपने नियमों का पालन नहीं किया तो एक व्यक्ति को दो हजार रुपए जुर्माना भरना पड़ सकता है. अगर कई लोगों का ग्रुप है तो उस पर 10 हजारु रुपए तक जुर्माना लगाया जा सकता है. Also Read - पुलिस की लापरवाही पड़ी भारी, हाईकोर्ट का आदेश- 68 साल के बुजुर्ग को राज्‍य सरकार दे 5 लाख रुपए मुआवजा

गोवा में पर्यटक स्थलों को शोर-शराबा मुक्त करने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने बुधवार को एक विधेयक पेश किया था, जिसके तहत समुद्री तटों सहित खुले स्थानों पर शराब पीना और खाना बनाना प्रतिबंधित होगा. पर्यटन मंत्री मनोहर अजगांवकर ने विधानसभा में बुधवार को विधेयक पेश किया था. विधेयक में प्रावधान है कि कानून का उल्लंघन करने वाले किसी भी व्यक्ति को दो हजार रुपए और लोगों के समूह को दस हजार रुपए का जुर्माना किया जाएगा. Also Read - दिल्‍ली में Delhi Odd-Even की अनदेखी करना पड़ा भारी, काम नहीं आए ये बहाने

बता दें कि विधेयक में गोवा पर्यटक स्थल (संरक्षण एवं देखभाल) कानून, 2001 को संशोधित किया गया है, जिसमें नये नियम का पालन सुनिश्चित किये जाने की जिम्मेदारी शराब दुकानों की होगी. विधेयक में कहा गया है कि शराब बिक्री के व्यवसाय में शामिल कोई भी व्यक्ति अपने ग्राहकों को पर्यटक स्थलों पर शराब की बोतल ले जाने की अनुमति नहीं देगा.

विधेयक में कहा गया है कि इसका उद्देश्य गोवा में पर्यटक स्थलों पर पर्यटन की संभावना बचाए रखना और स्वच्छता बरकरार रखना और वहां शोर-शराबा रोकना है.

अजगांवकर ने गोवा पर्यटन व्यवसाय पंजीकरण कानून, 2019 भी पेश किया, जिसके तहत ऑनलाइन सेवा मुहैया कराने के इच्छुक होटलों और अन्य पर्यटन संस्थानों का विभाग में पंजीकरण कराना आवश्यक है.