जम्‍मू एयरफोर्स स्‍टेशन (Jammu Air base) के तकनीकी क्षेत्र में शनिवार को देर रात को किए गए दो विस्‍फोटों (drone explosions ) को अंजाम देने के लिए दो ड्रोन (drone) के उपयोग करने का शक है. सूत्रों के मुताबिक, जम्मू एयरपोर्ट के पास एयरफोर्स स्‍टेशन पर हमले को अंजाम देने के लिए दो ड्रोन का इस्तेमाल किया गया. जम्मू एयर बेस के पास ड्रोन विस्फोट में भारतीय वायु सेना (IAF) के दो कर्मियों को मामूली चोटें आईं. सूत्रों के मुताबिक, ड्रोन हमले का संभावित टारगेट पार्किंग एरिया में खड़े विमान थे.Also Read - जम्मू-कश्मीर: सस्पेंड IPS अफसर बसंत रथ ने दिया इस्तीफा, राजनीति में शामिल होने का जताया इरादा

इस आतंकी हमले के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वाइस एयर चीफ, एयर मार्शल एचएस अरोड़ा से इस घटना के संबंध में बात की है. एयर मार्शल विक्रम सिंह स्थिति का जायजा लेने जम्मू पहुंच रहे हैं. Also Read - महबूबा मुफ़्ती ने कहा- जम्मू कश्मीर के युवा आतंकवाद छोड़ें, जान न गंवाएं, हमें आपकी ज़रूरत है

सूत्रों के मुताबिक, जम्मू एयरबेस पर आज सुबह 1:27 बजे और 1:32 बजे ड्रोन से हुए धमाकों से क्षति हुई. शुरुआती इनपुट के मुताबिक शेपड चार्ज(विस्फोटक उपकरण) का इस्तेमाल धमाकों के लिए किया गया है. Also Read - 'एक इंच जमीन कब्जा नहीं करने देंगे', चीन-पाकिस्तान के मुद्दे पर सख्त लहजे में बोले राजनाथ सिंह


भारतीय वायु सेना (IAF) का एक उच्च स्तरीय जांच दल शीघ्र ही जम्मू पहुंच गया है. सूत्रों के मुताबिक, ड्रोन हमले का संभावित टारगेट पार्किंग एरिया में खड़े विमान थे.

डिफेंस मिनिस्‍टर ऑफिस ने अपने एक बयान में कहा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू के वायु सेना स्टेशन पर आज की घटना के संबंध में वाइस एयर चीफ एयर मार्शल एच.एस.अरोड़ा से बात की है. एयर मार्शल विक्रम सिंह स्थिति का जायज़ा लेने जम्मू पहुंच रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक, पश्चिमी एयर कमांडर एयर मार्शल वी.आर. चौधरी स्थिति का जायज़ा लेने के लिए जम्मू एयरबेस का दौरा करेंगे. भारतीय वायु सेना के अधिकारी उन्हें इस घटना की जानकारी देंगे.

इंडियन एयरफोर्स ने ट्वीट कर बताया कि जम्मू वायु सेना स्टेशन के टेक्निकल इलाके में रविवार सुबह दो कम तीव्रता वाले विस्फोटों की सूचना मिली है. एक विस्फोट से इमारत की छत को मामूली नुकसान पहुंचा, जबकि दूसरा खुले क्षेत्र में फटा. किसी भी उपकरण को कोई नुकसान नहीं हुआ. जांच चल रही है.


जम्मू एयरपोर्ट के तकनीकी क्षेत्र में दो विस्फोट
जम्मू हवाईअड्डे के अत्यधिक सुरक्षा वाले तकनीकी क्षेत्र में शनिवार देर रात पांच मिनट के अंतराल में दो विस्फोट हुए. अधिकारियों ने बताया कि विस्फोट देर रात करीब सवा दो बजे हुए. पहले विस्फोट के कारण एयरपोर्ट के तकनीकी क्षेत्र में एक इमारत की छत ढह गई. इस स्थान की देखरेख का जिम्मा वायु सेना उठाती है और दूसरा विस्फोट जमीन पर हुआ. इसमें किसी के हताहत होने की तत्काल कोई जानकारी नहीं मिली थी.

वायु सेना के अड्डे में धमाके की जांच चल रही है
रक्षा प्रवक्ता ने सुबह ट्वीट में कहा, ”जम्मू में वायु सेना के अड्डे में धमाके की खबर मिली है. इसमें कोई जवान हताहत नहीं हुआ है और न ही कोई साजो सामान क्षतिग्रस्त हुआ है. जांच चल रही है और विस्तृत विवरण की प्रतीक्षा है.”


अधिकारियों की उच्च स्तरीय मीटिंग
घटना के बाद सुरक्षा बलों ने इलाके को कुछ ही मिनटों में सील कर दिया. सूत्रों ने बताया कि एयफोर्स बेस पर वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों और भारतीय वायु सेना के अधिकारियों की उच्च स्तरीय बैठक चल रही है. जम्मू हवाई अड्डा एक असैन्य एयरपोर्ट है.


रक्षा मंत्री लद्दाख के तीन दिवसीय दौरे पर
दिल्ली से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लद्दाख अपने तीन दिवसीय दौरे पर पहुंंच गए हैं. अपनी इस यात्रा के दौरान रक्षा मंत्री जवानों से बात करेंगे और सीमा सड़क संगठन द्वारा बनाए गई बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के उद्घाटन समारोह में हिस्सा लेंगे. उनके साथ आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे भी हैं.