मुंबई: ऋण वसूली अधिकरण (डीआरटी) ने 7,000 करोड़ रुपए से अधिक के बकाए की वसूली के लिए भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी, उसके परिवार के सदस्यों और उसकी कंपनियों को सोमवार को नोटिस भेजा. पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने अपने 7,029 करोड़ रुपए वसूलने के लिए जुलाई अधिकरण से गुहार लगाई थी. इसके छह महीने बाद डीआरटी-1 रजिस्ट्रार, ए. मुरली ने वसूली का यह नोटिस भेजा है. Also Read - International Day of Families 2020: यूं ही नहीं एक परिवार से बनता है देश, Wishes And Quotes में जानें परिवार की अहमियत

नोटिस में कहा गया है कि आरोपी-प्रतिवादी नीरव मोदी और अन्य को संबंधित संपत्तियों से संबंधित किसी भी तरह का लेनदेन करने, इन्हें स्थानांतरित करने से रोक दिया गया है. Also Read - प्रयागराज में परिवार के 4 सदस्‍यों की हत्‍या में बड़ा खुलासा, बेटा ही निकला मास्‍टरमाइंड

डीआरटी के नोटिस का जवाब देने के लिए उन्हें 15 जनवरी, 2019 तक का समय दिया गया है जिसमें विफल होने पर पंजाब नेशनल बैंक की याचिका पर एकतरफा फैसल होगा. Also Read - प्रयागराज में एक परिवार के 4 सदस्‍यों की हत्‍या, धारदार हथियार से वारदात को अंजाम दिया