नई दिल्ली: विदेश मंत्री एस. जयशंकर (S Jaishankar) ने राज्यसभा में कहा कि महामारी (Covid-19) के दौरान भारत (India) ने डेढ़ सौ देशों को पीपीई किट (PPE Kit) समेत विभिन्न दवाओं की आपूर्ति की. इसके साथ ही हमारा देश पूरी दुनिया के लिए दवा देने वाला देश बन गया है. जयशंकर ने कहा, “भारत अब दुनिया भर में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन (Hydroxychloroquine Tablet), पेरासिटामोल (Paracetamol) और अन्य दवाओं की जरूरत पूरा कर सकता है. हमने 150 देशों को दवाएं भेजी हैं, जिनमें से 82 को तो भारत (India) ने मदद के तौर पर दवाएं दी हैं. मास्क (Mask), पीपीई किट (PPE Kit) और डायग्नोस्टिक किट्स (Diagnostic Kits) का उत्पादन जिस तरह बढ़ा, उसे हमने दूसरे देशों को भी उपलब्ध कराया.”Also Read - भारत ने लिया बदला, Asia Cup के सुपर-4 में जापान को 2-1 से हराया

जयशंकर ने कहा कि वैक्सीन मैत्री कार्यक्रम (Vaccine Friendship Program) के तहत 72 देशों जैसे मालदीव (Maldives), भूटान (Bhutan), बांग्लादेश (Bangladesh), नेपाल (Nepal), श्रीलंका (Sri Lanka) और म्यांमार (Myanmar) के साथ-साथ मॉरीशस (Mauritius ) और खाड़ी देशों को वैक्सीन (Covid Vaccine) दी गई. Also Read - रेलवे के 91 हज़ार पद ख़त्म करने की रिपोर्ट पर राहुल गांधी ने कहा- मोदी सरकार को ये महंगा पड़ेगा

उन्होंने कहा, “हमारी संस्कृति की झलक दिखाता हमारा विजन वंदे भारत मिशन (Vande Bharat Mission) में भी नजर आया. तभी तो वुहान से लेकर कई देशों से हम अपने और दूसरे नागरिकों को भी वापस लाए.” इस मौके पर उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के दृष्टिकोण की प्रशंसा भी की. मंत्री ने कहा कि घरेलू टीकाकरण कार्यक्रम जनवरी 2021 में शुरू हुआ और उसके कुछ ही दिनों बाद भारत ने निकटवर्ती पड़ोसियों की सहायता करना भी शुरू कर दिया था. Also Read - पीएम मोदी ने की सरकार की तारीफ, वरुण गांधी ने साधा निशाना, राजनीति से लेकर मनोरंजन तक... ये हैं आज की बड़ी ख़बरें