नई दिल्ली. यहां के ऐतिहासिक लवकुश रामलीला में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शिरकत की. पीएम मोदी ने लाल किला मैदान में तीर चलाकर रावण का पुतला दहन किया. इस मौके पर केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन के अलावा दि‍ल्‍ली बीजेपी के अध्‍यक्ष मनोज ति‍वारी भी मौजूद रहे. रामलीला मैदान में पहुंचने पर पीएम मोदी और राष्‍ट्रपत‍ि ने राम सहि‍त दूसरे कि‍रदार नि‍भाने वाले कलाकारों से मुलाकात की.

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, हमे प्रभु राम के जीवन से प्रेरणा लेते हुए आगे बढ़ना है. भगवान राम ने रावण पर जनसमूह और पर्यावरण से मदद लेकर वि‍जय प्राप्‍त की थी. राष्ट्रपति ने देशवासियों को दशहरा की शुभकामानाएं देते हुए कहा, हम रावण के रूप में अपने अंदर और आसपास की सभी बुराइयों का नाश करें. हम बिना किसी को कष्ट पहुंचाए अपने त्योहार को मनाएं.

राष्ट्रपति ने कहा, बुराई पर अच्छाई और असत्य पर सत्य की जीत के रूप में यह विजयादशमी का त्योहार मानव मूल्यों एवं आदर्शों की उत्कृष्टता का प्रतीक है. एक ऐसा पर्व है जो समाज में सच्चाई व नैतिकता तथा मर्यादापूर्ण व्यवहार को अपनाने की प्रेरणा देता है. उन्होंने कहा कि राम-केवट मिलन या गरीब आदिवासी महिला सबरी के बेर खाना ऐसे उदाहरण हैं जो समाज में संवेदनशीलता और सद्भावना जैसे मूल्यों को अनुकरणीय बनाते हैं.