नई दिल्ली: दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ (DUSU) चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (ABVP) ने 4 में से 3 सीटों पर जीत दर्ज की है. लेकिन इस चुनाव परिणाम पर सवाल भी उठ रहे हैं. DUSU चुनाव में गिनती के दौरान EVM में गड़बड़ी की शिकायत मिली थी जिसके बाद वोटों की गिनती को गुरुवार के लिए टाल दिया गया था लेकिन बाद में गिनती को फिर से शुरू कर दिया गया.

EVM में छेड़खानी को लेकर NSUI समेत तमाम विपक्षी दलों ने सवाल उठाया है. EVM पर हो रहे विवाद पर अब दिल्ली के इलेक्शन कमिशन ने सफाई दी है, दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी ने कहा है कि उसने DUSU चुनाव के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी को कोई EVM उपलब्ध नहीं कराई.

दिल्ली इलेक्शन कमिशन ने कहा है, ”हमने दिल्ली यूनिवर्सिटी को कोई EVM नहीं दी है, राज्य के चुनाव आयोग ने भी इसे कंफर्म किया है कि दिल्ली यूनिवर्सिटी को कोई EVM नहीं दी गई है. ऐसा लगता है कि दिल्ली यूनिवर्सिटी ने प्राइवेट EVM का इस्तेमाल किया है.”

election commission of delhi

ऐसे में सवाल उठता है कि जब दिल्ली चुनाव आयोग ने दिल्ली यूनिवर्सिटी को छात्रसंघ चुनाव के लिए EVM नहीं दी तो चुनाव के लिए EVM कहां से लाई गई. वहीं अगर चुनाव नतीजों की बात करें तो  अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और संयुक्त सचिव पद पर ABVP को जीत मिली है तो वहीं सचिव पद पर नेशनल स्टूडेंट यूनियन ऑफ इंडिया (NSUI) ने जीत दर्ज की है.

अध्यक्ष पद पर ABVP के अंकिव बसोया को 20,467 वोट मिले हैं तो वहीं दूसरे नंबर पर रहे NSUI के सन्नी छिल्लर को 18,723 वोट मिले हैं. उपाध्यक्ष पद पर ABVP के शक्ति सिंह को 23,046 वोट मिले हैं तो वहीं दूसरे नंबर पर रहीं NSUI की लीना को 15,000 वोट मिले हैं.

सचिव पद पर NSUI को जीत मिली है, NSUI के आकाश चौधरी को 20,198 वोट मिले हैं तो वहीं दूसरे नंबर पर रहे ABVP के सुधीर डेढ़ा को 14,109 वोट मिले हैं. संयुक्त सचिव पद पर ABVP की ज्योति चौधरी 19,353 वोट लेकर विजयी हुई हैं तो वहीं दूसरे नंबर पर रहे NSUI के सौरभ चौधरी को 14,381 वोट मिले हैं.