चेन्नई: द्रविड़ विदुथलई कषगम (डीवीके) ने शुक्रवार को सुपरस्टार रजनीकांत पर समाज सुधारक पेरियार द्वारा 1971 में की गई रैली के सिलसिले में ‘सरासर झूठ बोलने का’ आरोप लगाया, उनसे इस संदर्भ में माफी मांगने की मांग की तथा उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई. Also Read - महबूबा मुफ्ती की रिहाई के बाद घाटी में हलचल तेज, राजनीतिक दल आज फिर करेंगे बैठक

डीवीके अध्यक्ष कोलाथुर मणि ने एक बयान में आरोप लगाया कि अभिनेता ने सरासर झूठ बोला कि 1971 में सलेम में अंधविश्वास उन्मूलन सम्मेलन के तहत भगवान राम और सीता की निर्वस्त्र तस्वीरें दिखाई गई थीं. Also Read - Bihar Assembly Election: बिहार में महागठबंधन का आकार हो रहा छोटा, नए विकल्प की तलाश में दल

संगठन ने कहा कि अभिनेता ने 14 जनवरी को एक पत्रिका के कार्यक्रम में यह टिप्पणी की. मणि ने अभिनेता से बिना शर्त माफी मांगने की मांग की और कहा कि उनके संगठन ने उनके विरूद्ध पुलिस में शिकायत दर्ज करायी है. Also Read - Bihar Assembly Election: बिहार चुनाव में सुशांत सिंह राजपूत पर हो रही राजनीति, वोट भुनाने में जुटे सभी दल