Earthquake in Nepal and Northern India 201599 Also Read - दिल्ली में पिछले 4 महीने में 18 बार आए भूकंप के झटके, शहरवासी हो जाएं सावधान

Also Read - अब कश्मीर में महसूस किए गए भूकंप के झटके, दिल्ली में कई बार हिल चुकी है धरती

राजधानी दिल्ली समेत उत्तर भारत के कई हिस्सों में भूकंप के झटके महसूस किए गए। इसका प्रभाव दिल्ली के अलावा उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड, पंजाब में भी महसूस किया गया। भूकंप का केंद्र नेपाल-चीन की सीमा को बताया जा रहा है। रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 7.4 बताई गई है। Also Read - EarthQuakes: डेढ़ महीने में 11 बार भूकंप के झटके, क्या ये किसी बड़े खतरे का संकेत है?

बता दें कि 25 अप्रैल को नेपाल में 7.9 तीव्रता वाला भूकंप आया था जिसके बाद भारी तबाही मची थी। पाकिस्तान और बांग्लादेश में भी आए भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। इस भूकंप के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि लोगो को घबराने की कोई जरुरत नही है। यह भी पढ़े-भूकंप के बाद दिल्ली मेट्रो बंद, स्कूलों को मिली छुट्टी

भूकंप का केंद्र नेपाल में राजधानी काठमांडू के निकट बताया गया है और इसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 7.4 मापी गई। इन झटकों के चलते लोग दहशत में आ गए और घरों से बाहर निकल पड़े। दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के कारण दिल्ली मेट्रो का संचालन रोक दिया गया। कोलकाता में भी मेट्रो ट्रेन के संचालन को रोक दिया गया। भूकंप के कारण दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट का भी कामकाज ठप हो गया। यह भी पढ़े-भूकंप से उत्तर प्रदेश में एक शख्स की मौत, नेपाल में चार लोगो के मरने की खबर

गौरतलब है कि 25 अप्रैल को नेपाल में आए विनाशकारी भूकंप के झटकों को पूरे उत्तर भारत में महसूस किया गया था। इस भूकंप के चलते नेपाल में 8,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी। वहां अब तक भूकंप के करीब 165 झटके महसूस किए जा चुके हैं। इस भूकंप से बिहार, यूपी और पश्चिम बंगाल में भी करीब 70 लोगों की मौत हो गई थी। यह भी पढ़े-दिल्ली समेत उत्तर भारत में महसूस हुए भूकंप के झटके, नेपाल में केंद्र