Also Read - Zero लाइसेंस फीस के साथ शुरू करे अपना ईवी चार्जिंग स्टेशन| Watch Video

Also Read - रहें सावधान: मोबाइल से करते हैं पैसे का लेन-देन या ले रहे हैं Loan, तो पढ़ें DoT की ये गाइडलाइंस, जानना है जरूरी

काठमांडू, 3 मई | नेपाल में विनाशकारी भूकंप के बाद राहत एवं बचाव कार्यो के लिए बड़ी तादाद में सहायता एवं बचावकर्मी यहां पहुंच रहे हैं, जिसे देखते हुए सरकार ने रविवार को कहा कि बचावकर्मियों को यहां आवास, खाद्य एवं परिवहन के लिए अपना बंदोबस्त स्वयं करना होगा। विदेश मंत्रालय ने यह भी कहा कि नेपाल को दी जा रही सहायता अंतर्राष्ट्रीय मानदंडों और नियमों के अधीन होनी चाहिए। यह भी पढ़ें– भारत-नेपाल सीमा पर राहत की निगरानी करेंगी ममता Also Read - PCB प्रमुख Rameez Raja को PM Modi से खौफ, बोले- अगर वो सोच लें, तो हम बर्बाद हो सकते हैं

सरकार ने 25 अप्रैल को आए विनाशकारी भूकंप के बाद राहत अभियानों के लिए अलग से प्राथमिक वस्तुओं की एक सूची भी तैयार की है। यह सूची सभी राजनयिक मिशनों, संयुक्त राष्ट्र और विशेषीकृत एजेंसियों और काठमांडू में अन्य अंतर्राष्ट्रीय संगठनों को भेज दी गई है।