शिमला: हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में सोमवार शाम साढ़े चार बजे के आसपास भूंकप के झटके महसूस किए गए. लोगों ने मध्यम तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए. भूकंप की तीव्रता 4.2 मापी गई है. इस भूकंप में किसी के हताहत होने या संपत्ति के नुकसान होने की सूचना नहीं है.

स्थानीय मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि भूकंप का झटका राज्य के आदिवासी बहुल किन्नौर जिले और इसके आस पास के इलाके में कुछ सेकेंड तक महसूस किया गया. भूकंप का केंद्र राजधानी शिमला से 114 किलोमीटर दूर किन्नौर जिले में था.

इससे पहले 9 मई को भी हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे तब भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान-ताजिकिस्तान का सरहद पर था. 9 अप्रैल को उत्तराखंड डिजास्टर मैनेजमेंट ने भी चेतावनी दी थी कि उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और नेपाल में कभी भी भूकंप आ सकता है.

9 अप्रैल को भी आया था भूकंप
इससे पहले 9 अप्रैल 2018 को भूकंप आया था जिसका केंद्र पंजाब का अमृतसर था. वहीं, इससे पहले 31 मार्च को कश्मीर घाटी में 6.2 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. लोग भूकंप के बाद मकानों के हिलने की वजह से अपने घरों व कार्यस्थलों से बाहर आ गए थे. बता दें कि 8 अक्टूबर 2005 को 7.6 तीव्रता के आए शक्तिशाली भूकंप से भारत प्रशासित व पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 80 हजार लोग मारे गए थे.

(इनपुट: एजेंसी)