चेन्नई: निर्वाचन आयोग (ईसी) ने गुरुवार को घोषणा की कि तमिलनाडु की वेल्लोर लोकसभा सीट के लिए 5 अगस्त को मतदान होगा. चुनाव आयोग ने उन सभी जिलों में तत्काल प्रभाव से आदर्श आचार संहिता लागू करने की भी घोषणा की, जिनमें संसदीय निर्वाचन क्षेत्र का पूरा या कोई भी भाग जिसमें चुनाव होने जा रहा है शामिल है.

 

निर्वाचन आयोग ने कहा कि आदर्श आचार संहिता सभी उम्मीदवारों, राजनीतिक दलों और राज्य सरकार के लिए लागू होगी. यह संबंधित जिले के लिए केंद्र सरकार पर भी लागू होगी. वेल्लोर निर्वाचन क्षेत्र के लिए चुनाव 18 अप्रैल को कराए जाने थे, लेकिन आयकर विभाग द्वारा द्रमुक के पदाधिकारी के सीमेंट गोदाम से बड़ी मात्रा में नकदी जब्त किए जाने के बाद इसे रद्द कर दिया गया. निर्वाचन अयोग ने तब मतदान को रद्द करते हुए कहा था कि वह पूरी तरह से संतुष्ट हैं कि द्रमुक उम्मीदवार कथिर आनंद व राजनीतिक दल के कुछ कार्यकर्ताओं की गैरकानूनी गतिविधियों की वजह से वेल्लोर में मौजूदा चुनाव को नुकसान पहुंचा है.

निर्वाचन आयोग ने कहा था कि आयोग की सुविचारित राय है कि 18 अप्रैल 2019 को निर्वाचन क्षेत्र में मौजूदा चुनाव प्रक्रिया को आगे बढ़ाना व मतदान कराना स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव को गंभीर रूप से जोखिम में डालने जैसा है. वेल्लोर में बीते 18 अप्रैल को चुनाव निर्धारित था. द्रमुक की अगुवाई वाले मोर्चे ने 18 अप्रैल को हुए लोकसभा चुनावों में 38 लोकसभा सीटों में से 37 पर जीत हासिल की.