नई दिल्लीः चुनाव आयोग ने मंगलवार को स्वयंभू साइबर विशेषज्ञ सैयद शुजा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा दी. सैयद शुजा नामक व्यक्ति ने सोमवार को लंदन में एक कार्यक्रम में दावा किया था कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को हैक किया जा सकता है. सैयद ने यह भी दावा किया है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में धांधली हुई थी और ईवीएम को हैक किया जा सकता है. शुजा ने खुद को इलेक्ट्रॉनिक कारपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड का पूर्व कर्मचारी बताया है. इस कंपनी ने ही ईवीएम को विकसित किया है. उसने यह भी दावा किया वह इस ईवीएम को विकसित करने वाली टीम का हिस्सा था.

चुनाव आयोग ने एफआईआर दर्ज करने के लिए दिल्ली पुलिस को लिखे पत्र में कहा है कि सैयद शुजा ने आईपीसी की धारा 505 (1) का कथित तौर पर उल्लंघन किया है. यह धारा दहशत पैदा करने वाले अफवाह फैलाने से संबद्ध है. आयोग ने पुलिस को लंदन के एक कार्यक्रम में सोमवार को शुजा द्वारा दिए गए बयान की शीघ्र जांच करने को कहा है.


स्काइप के जरिए न्यूज कॉन्फ्रेंस में शुजा ने कहा कि वह अमेरिका में रहता है. भारत में उसके जान को खतरा है इसलिए उसे वहां राजनीतिक शरण मिला हुआ है. शुजा ने कहा है कि 2014 के चुनाव में जिन 200 सीटों को कांग्रेस जीत सकती थी उसे डाटा ट्रांसमिशन में घालमेल कर भाजपा के पक्ष में किया गया. ऐसा देश के विभिन्न हिस्सों में स्थापित किए गए मिलिट्री ग्रेड मॉड्यूलेटर्स के जरिए किया गया. हालांकि उसने कोई सबूत नहीं दिए हैं.