Assembly Election Results 2021: भारतीय चुनाव आयोग (ECI) ने चुनाव परिणाम के संबंध में बुधवार (28 अप्रैल, 2021) को महत्वपूर्ण घोषणा की. इसने कहा कि काउंटिंग सेंटर में दाखिल होने के लिए पार्टी उम्मीदवारों को आरटी-पीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य होगा. उन्हें टीका लगवाने की भी रिपोर्ट दिखानी होंगी. उम्मीदवारों के एजेंटों पर भी यही नियम लागू होंगे. गाइडलाइन में कहा गया कि काउंटिंग सेंटर में दाखिल होने वाले किसी भी शख्स में कोविड-19 के लक्षण जैसे बुखार आदि नहीं होने चाहिए. ऐसे स्थिति में भी शख्स को काउंटिंग सेंटर में नहीं जाने दिया जाएगा.Also Read - देश भर में 2,100 राजनीतिक दलों पर एक्शन लेगा चुनाव आयोग, जानें क्या है वजह....

गाइडलाइन में पार्टी एजेंटों को कुछ छूट भी दी गई है. मसलन किसी एजेंट को कोरोना संक्रमण की पुष्टि होती है वो किसी और को अपनी जगह सेंटर में भेज सकता है. काउंटिंग सेंटर में सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करना होगा. इसके अलावा अंदर बैठने की व्यवस्था कोरोना नियमों के आधार पर होनी चाहिए. चुनाव आयोग ने कहा कि काउंटिंग सेंटर में एजेंटों के लिए पर्याप्त संख्या में पीपीई किट उपलब्ध हों. इसके अलावा सभी काउंटिंग सेंटर पर मास्क, सैनिटाइजर, फेस शील्ड, ग्लव्स की उचित व्यवस्था हो. Also Read - राजीव कुमार ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त के रूप में प्रभार संभाला, सुशील चंद्रा का लिया स्थान

Also Read - भारत में आएगी कोरोना की चौथी लहर? इस आईआईटी प्रोफेसर ने किया है ये दावा-जानिए क्या कहा

मालूम हो कि पांच राज्यों के चुनाव नतीजे दो मई को घोषित किए जाने हैं. चुनाव आयोग इससे पहले भी नतीजों के बाद राजनीतिक पार्टियों को विजय जुलूस या जश्न पर पूरी तरह बैन लगा चुका है. इसने कहा कि नतीजों के बाद जीतने वाला प्रत्याशी सिर्फ दो लोगों के साथ ही अपनी जीत का सर्टिफिकेट लेने जा सकता है.

मालूम हो कि पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी के चुनाव नतीजे 2 मई को घोषित किए जाने हैं. इनमें बंगाल को छोड़ बाकी चार राज्यों में मतदान संपन्न हो चुका है. पश्चिम बंगाल में एक चरण का मतदान बचा है.