नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने एसोसिएटेड जर्नल्स लि. (एजेएल) को पंचकुला में आबंटित भूखंड कुर्क कर लिया है. हरियाणा सरकार ने एजेएल को यह जमीन 2005 में आबंटित किया था. जांच एजेंसी ने सोमवार को यह जानकारी दी. ईडी के मुताबिक यह मनी लांड्रिंग निरोधक कानून के तहत यह कदम उठाया गया है. एजेएल पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं का नियंत्राण है जिनमें गांधी परिवार के सदस्य भी हैं.

एजेंसी ने एक बयान में कहा कि एक दिसंबर को अस्थायी कुर्की आदेश जारी किया गया. उसी दिन सीबीआई ने गलत तरीके से जमीन एजेएल को आवंटित करने को लेकर हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा और अन्य के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किये.

बयान में कहा गया है कि चूंकि गलत तरीकों से आवंटित इस भूखंड का मूल्य ”अपराध से अर्जित धन/सम्पत्ति के समान है लिहाजा इसे ईडी ने कुर्क कर लिया है. ” ईडी के अधिकारियों ने बताया कि भूखंड पीएमएलएल (मनी लांड्रिंग निरोधक कानून) की धारा 5 के तहत कुर्क किया गया है. मामले की आगे की जांच जारी है.” सीबीआई के आरोप-पत्र में हुड्डा के अलावा कांग्रेस नेता मोती लाल वोरा का भी नाम है.