श्रीनगर| कश्मीर के अलगाववादी नेता अब प्रवर्तन निदेशालय के हत्थे चढ़ चुके हैं. शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय ने कश्मीर में हिंसा भड़काने और आतंकी संगठनों से फंडिंग लेने के चलते हाफिज सईद समेत कई अलगावदी संगठनों पर कार्रवाई करते हुए मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया है. Also Read - दिल्ली की अदालत ने इस मामले में लश्कर सरगना हाफिज सईद के खिलाफ जारी किया गैर जमानती वारंट

प्रवर्तन निदेशालय ने इसमें जिन लोंगो पर केस दर्ज किया है उसमें कट्टरपंथी अलगाववादी नेता हाफिज सईज, कश्मीर की हुर्रियत कांफ्रेंस, आसिया आंद्राबी के संगठन दुख्तरान-ए-मिल्लत और लश्कर ए तैयबा के सदस्य शामिल हैं. निदेशालय, इन्हें हिंसा और आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए हवाला और अन्य गैरकानूनी तरीके से मिलने वाले पैसों की जांच कर रहा है. Also Read - पाकिस्तान की अदालत ने मुंबई हमले के षडयंत्रकर्ता हाफिज सईद के तीन सहयोगियों को सुनाई सजा

गौरतलब है कि पिछले दिनों अलगाववादी नेता नईम खान को टेलीविजन पर एक स्टिंग ऑपरेशन में कथित तौर पर पाकिस्तान के आतंकी संगठनों से पैसा लेने की बात कबूलते देखा गया था. इसके बाद राष्ट्रीय जांच ऐजेंसी (एनआईए) ने एफआईआर दर्ज कर अलगाववादी नेताओं के कश्मीर, दिल्ली और हरियाणा स्थित 22 ठिकानों पर छापेमारी की थी. इस छापेमारी के दौरान एनआईए को 1.15 करोड़ रुपये नकद, करोड़ों की चल-अचल संपत्ति से संबंधित दस्तावेज के साथ-साथ लश्करे तैयबा और हिजबुल मुजाहिद्दीन के लेटर हेड, पेन ड्राइव, लैपटॉप जब्त किये गए थे. Also Read - 26/11 है आज: मुंबई हमले के आतंकियों के लिए पाकिस्तान में प्रार्थना करवा रहा आतंकी हाफिज सईद