नई दिल्‍ली: प्रवर्तन निदेशालय की बीते 9 जुलाई को दिल्ली और गाजियाबाद में 8 जगहों पर छापे मारे थे, जिसमें बेहिसाब करोड़ों रुपए की काली कमाई सामने आई है. Also Read - Covid-19: दिल्ली में कोरोना के 805 नए मामले सामने आए, मृतक संख्या बढ़कर 4021 हुई

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने फेमा के तहत 9 जुलाई को दिल्ली और गाजियाबाद में 8 स्थानों पर छापे मारे थे, जिसमें टूर एंड ट्रैवल कंपनियों के कई निदेशकों और उनके सीए के आवासों और कार्यालयों में छापे मारे थे और कई असंगत दस्तावेजों और डिजिटल रिकॉर्ड के साथ 3.57 करोड़ रुपए की बेहिसाब भारतीय मुद्रा जब्त की है. Also Read - पीएम मोदी के ये मंत्री बैठे भूख हड़ताल पर, केरल के सीएम का मांगा इस्‍तीफा

प्रवर्तन निदेशालय ने बताया कि विशिष्ट इनपुट के आधार पर FEMA, 1999 के तहत विभिन्न संस्थाओं समेत टूर्स और ट्रैवल कंपनियों के खिलाफ जांच शुरू की गई थी. इसमें वे विदेशियों को ई-वीजा सेवाएं प्रदान करने के नाम पर भुगतान गेटवे के माध्यम से अनधिकृत विदेशी लेनदेन में शामिल थे.