Eid-E-Milad 2020: देश भर में आज ईद-ए-मिलाद का पर्व मनाया जा रहा है. इसे मीलाद उन नबी (Milad Un Nabi) भी कहा जाता है. इस मौके पर राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने देशवासियों को शुभकामनाएं दीं. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर लिखा, ‘पैगम्‍बर मुहम्‍मद (स.) के जन्‍मदिन, मिलाद-उन-नबी के पाक मौके पर, मैं सभी देशवासियों, विशेष रूप से हमारे मुस्लिम भाइयों और बहनों को मुबारकबाद देता हूं. पैगम्‍बर मुहम्‍मद की शिक्षाओं के अनुसार, आइए, हम सब, समाज की खुशहाली और देश में अमन व सुकून के लिए कार्य करें.Also Read - PM मोदी ने सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का किया अनावरण, कहा- 'आजादी के बाद की गलतियों को अब देश सुधार रहा'

Also Read - IAS Cadre Rules में बदलाव करने जा रही मोदी सरकार, जानें इससे क्या फर्क पड़ेगा, जिसका विरोध हो रहा है

वहीं, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायूड ने कहा, ‘पैगम्बर ने मानवता को करुणा एवं सार्वभौमिक भाईचारे का सही मार्ग दिखाया. मिलाद-उन-नबी के मौके पर परिवार एवं मित्र मिलकर प्रार्थना करते हैं, लेकिन इस साल, मैं कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण नागरिकों से अपील करता हूं कि वे कोविड-19 संबंधी स्वास्थ्य एवं स्वच्छता के प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करें.’ Also Read - Netaji Subhash Chandra Bose की प्रतिमा के होलोग्राम का PM Modi आज करेंगे अनावरण, जानें क्या होगा खास

वहीं, प्रधानमंत्री मोदी शुभकामनाएं देते हुए उम्मीद जताई कि यह पर्व करुणा और भाईचारा बढ़ाएगा. पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा, ‘मिलाद-उन-नबी पर शुभकामनाएं. यह दिन सभी में करुणा और भाईचारा बढ़ाए. सभी स्वस्थ और खुशहाल हों’ ईद मुबारक.’

बता दें कि मिलाद उन नबी इस्लाम धर्म के मानने वालों के कई वर्गों में एक प्रमुख त्योहार है. इस शब्द का मूल मौलिद है जिसका अर्थ अरबी में ‘जन्म’ है. अरबी भाषा में ‘मौलिद-उन-नबी’ का मतलब है हज़रत मुहम्मद का जन्म दिन है. मिलाद उन नबी संसार का सबसे बड़ा जशन माना जाता है. इस दिन ईद मिलाद उन नबी की दावत का आयोजन किया जाता है. इसके साथ ही मोहम्मद साहब की याद में जुलूस भी निकाले जाते हैं. हालांकि इस साल कोरोना महामारी के कारण बड़े जुलूस या समारोह के आयोजन की संभावना कम है.