नई दिल्ली. पीएम नरेंद्र मोदी के जीवन पर बन रही फिल्म ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ के प्रोड्यूसर को मंगलवार को चुनाव आयोग ने नोटिस भेज दिया है. बता दें कि इसे लेकर कांग्रेस सहित कुछ राजनैतिक पार्टियों ने चुनाव आयोग को नोटिस भेजा था. इसे देखते हुए चुनाव आयोग ने जवाब मांगा है.

दरअसल, फिल्म 5 अप्रैल को रिलीज होने वाली है. पहले चरण के लिए 11 अप्रैल को मतदान है. विपक्षी पार्टियों की मांग है कि फिल्म की रिलीज को चुनाव तक टाल दिया जाए. उनका कहना है कि चुनाव में एक तरह से प्रचार के लिए इस फिल्म को बनाया गया है.

विपक्षी दलों ने लगाया है ये आरोप
विपक्षी दलों ने इसे ‘जनमत को प्रभावित’ करने वाला चुनावी हथकंडा बताते हुये इसकी रिलीज रोकने की चुनाव आयोग से मांग की है. विज्ञापन जगत के मशहूर ‘एड गुरु’ दिलीप चेरियन का मानना है कि निर्वाचन नियमों के दायरे में फिलहाल बायोपिक फिल्में नहीं है इसलिये अब यह देखना होगा कि आयोग इस मामले में क्या रुख अपनाता है.

विवेक ओबेराय ने ये कहा
दूसरी तरफ नरेंद्र मोदी के जीवन पर आधारित फिल्म में मुख्य भूमिका निभा रहे अभिनेता विवेक ओबेरॉय ने कहा कि वह एक संतुलन रखने वाले व्यक्ति हैं और प्रधानमंत्री के समर्थकों और आलोचकों दोनों का सम्मान करते हैं. अपनी फिल्म पीएम नरेंद्र मोदी का ट्रेलर जारी करने के मौके पर विवेक (42) ने कहा कि वह राजनीतिक झुकाव के मामले में “अतिवादी” व्यक्ति नहीं हैं. उन्होंने कहा कि मैं अतिवादी प्रवृत्ति का व्यक्ति नहीं हूं. मैं संतुलन रखने वाला व्यक्ति हूं. मैं भक्तों और आलोचकों की आलोचना की प्रशंसा करता हूं.