नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने सोमवार को कहा कि अधिकारी स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए फर्जी खबरों और नफरत भरे भाषणों पर अंकुश लगाने के लिए सोशल मीडिया पर कड़ी नजर रखेंगे. चुनाव आयोग द्वारा लोकसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के एक दिन बाद सिंह ने भी लोगों से, मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए पैसे, उपहार या शराब बांट जाने, मतदाताओं को डराने-धमकाने के लिए बाहुबल का इस्तेमाल किये जाने या नफरत भरे भाषण दिए जाने जैसे किसी भी तरह के आदर्श आचार संहिता उल्लंघन की रिपोर्ट करने के लिए आयोग के एप ‘सी विजिल’ का इस्तेमाल करने की अपील की है. Also Read - Delhi Schools Not to Open: दिल्ली में फिलहाल नहीं खुलेंगे स्‍कूल, सरकार ने बताई ये बड़ी वजह

लोकसभा चुनावः कर्नाटक में भाजपा को वोट दिलाएगा 86 साल का यह बुजुर्ग नेता Also Read - कृषि कानूनों का विरोध: दिल्ली आने वाले किसानों को पुलिस ने दी कानूनी कार्रवाई की चेतावनी

आम चुनाव 11 अप्रैल को शुरू होगा और सात चरणों में यह संपन्न होगा. दिल्ली में 12 मई को मतदान होगा. चुनाव आयोग ने जनवरी में दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को दिल्ली पुलिस को लोकसभा चुनाव कार्यक्रम की फर्जी खबरों की जांच करने को कहने का निर्देश दिया था. सोशल मीडिया पर फर्जी चुनाव कार्यक्रम आया था. Also Read - महाराष्ट्र में बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री बंद, दिल्ली सहित इन 4 राज्य के लोगों को होगी मुश्किल

कन्हैया कुमार और अन्य के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा चलाने के लिए अभी तक नहीं मिली अनुमति: दिल्ली पुलिस

सिंह ने कहा कि दिल्ली निर्वाचन कार्यालय की मीडिया प्रमाणन एवं निगरानी समिति में पहली बार एक सोशल मीडिया विशेषज्ञ को शामिल किया गया गया है. समिति राज्य स्तर और जिला स्तर पर निगरानी करेगी.

उन्होंने कहा, अधिकारी फर्जी खबरों और नफरत भरे भाषण पर अंकुश लगाने के लिए टीवी, रेडियो तथा फेसबुक एवं ट्विटर समेत सोशल मीडिया सहित सभी प्रकार के मीडिया की निगरानी करेंगे. व्यक्तिगत उल्लंघनकर्ता के लिए इसकी रिपोर्ट जिला स्तर पर की जाएगी, राजनीतिक दलों के लिए किसी भी उल्लंघन की रिपोर्ट राज्य स्तर पर की जाएगी.

पति को शक था कि किसी और से करती है प्यार, परेशान इंस्पेक्टर पत्नी ने दी खौफनाक सजा

जब उनसे पूछा गया कि ऐसे उल्लंघनकर्ताओं के खिलाफ क्या कार्रवाई की जाएगी तो उन्होंने कहा कि कानून के अनुसार उपयुक्त कार्रवाई होगी. सिंह ने लोगों से इंटरनेट आधारित एप सीविजिल का इस्तेमाल करने की अपील की.

मुख्य निर्वाचन अधिकारी सिंह ने कहा, यदि लोग मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए पैसा, उपहार या शराब बांटने या उन्हें डराने धमकाने के लिए बाहुबल का इस्तेमाल करने या नफरत भरे भाषण देने जैसा आदर्श आचार संहिता उल्लंघन देखते हैं तो वे उसका फोटो लेकर या वीडियो बनाकर इस एप्प के माध्यम से रिपोर्ट कर सकते हैं. दिल्ली में करीब 1.39 करोड़ मतदाता हैं.