नई दिल्‍ली: असम के मोरिगांव के जंगल का ये वीडियो सामने आया है, जिसमें हाथी का बच्‍चा ELEPTHANT CALF चट्टानों के बीच फंस हुआ है. उसकी हालात देखकर बड़ी मुश्‍किल लगती है कि आखिर उसे कैसे निकाला जाए. लेकिन ये काबिले तारीफ है कि वनविभाग के कर्मचारियों और ग्रामीणों ने हाथी के बच्‍चे को बड़ी मशक्‍कत और मेहनत करके उसकी जान बचा ली. ELEPTHANT CALF को चट्टानों के बीच से निकालने के लिए फॉरेस्‍ट और आसपास के ग्रामीणों ने बड़ी ही जुगत लगाई और उसे सफलतापूर्वक बाहर निकाल लिया. अगर ग्रामीण और फॉरेस्‍ट कर्मचारी वहां नहीं पहुंचते और ये मेहनत नहीं करते तो उसकी जान चली जाती.Also Read - ट्रेन की चपेट में आने से अपने तीन साथियों की मौत से गुस्साए हाथी, 'विरोध' में ट्रैक पर बैठे, 12 घंटे ठप रही रेल लाइन

ELEPTHANT CALF को बचाया गया, तभी वहां उसकी मां आ पहुंची और उसने गुस्‍से में ग्रामीणों का पीछा किया. इसमें एक व्‍यक्‍ति घायल हो गया. जब पहाड़ी और जंगली इलाके में जैसे ही हाथी के बच्‍चे को बाहर निकाला गया, तभी गुस्‍से में आई हथिनी के कारण यहां भगदड़ जैसी मच गई. Also Read - असम में बाढ़ से 6 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित, सड़कें और रेलवे ट्रैक को हुआ भारी नुकसान | Watch Video

Also Read - असम में बाढ़ के कारण बिगड़े हालात, 8 लोगों की हो चुकी है मौत | Watch Video

वीडियो में चट्टानों के बीच फंसे हाथी के बच्‍चे को देखने के लिए सैकड़ों ग्रामीणों की भीड़ आसपास जुटी हुई दिखाई दे रही है. ग्रामीणों और वन विभाग के कर्मचारियों ने हाथी के बच्‍चे को निकालने के लिए मोटी-मोटी रस्सियों का उपयोग किया.

असम के फॉरेस्‍ट विभाग के अधिकारियों ने हाथी के बच्‍चे का ये वीडियो शेयर किया है. सोशल मीडिया में लोग फॉरेस्‍ट विभाग के कर्मचारियों और फॉरेस्‍ट विभाग के अधिकारियों के इस रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन की खूब तारीफ कर रहे हैं.