चंडीगढ़| केंद्र सरकार ने हरियाणा के दो गावों ‘गंदा’ और ‘किन्नर’ का नाम बदलने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. अब गांव ‘गंदा’ का नाम बदलकर अजीत नगर और किन्नर गांव का नाम बदलकर गैबी नगर करने पर विचार हो रहा है.Also Read - Haryana News: शादी का झांसा देकर युवती का यौन शोषण, पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

इसके अलावा हरियाणा सरकार ने जिला महेन्द्रगढ़ के गांव चामघेडा का भी नाम बदलकर देवनगर करने का निर्णय लिया है. Also Read - दिल्‍ली से 6 घंटे में कटरा और 2 घंटे में चंडीगढ़, देहरादून, हरिद्वार पहुंच सकेंगे आप: नितिन गडकरी

हरियाणा सरकार ने हाल ही में स्थानीय निवासियों की मांग पर दोनों गांवों के नाम बदलने का प्रस्ताव केंद्र को भेजा था. स्थानीय निवासियों का कहना था कि उन्हें अपने गांव के नाम के कारण शर्मिंदगी महसूस होती है. Also Read - Harayana सरकार ने IAS अफसर को लीव पर भेजा, करनाल में किसानों का धरना खत्‍म, होगी न्‍यायिक जांच

ये है मामला

यह मामला तब चर्चा में आया  जब आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा हरप्रीत कौर ने मोदी को चिट्ठी लिखकर मांग की थी कि उसके गांव का नाम गंदा होने के कारण उसे कई बार शर्मिंदगी महसूस करनी पड़ी है.

वहीं काफी समय से किन्नर गांव के लोग भी नाम बदलने लेकर हरियाणा सरकार से मांग कर रहे थे. गांव वालों का कहना है कि किन्नर नाम की वजह से युवा पीढ़ी को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था. लेकिन अब सरकार ने नाम बदलने की मंजूरी दे दी है तो यह अच्छा होगा.