लखनऊ: उत्तर प्रदेश में अपराधियों के खिलाफ जारी अभियान में शुक्रवार को बहराइच जिले में स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) से हुई मुठभेड़ में 50 हजार रुपए का इनामी अपराधी पन्ने लाल यादव उर्फ डॉक्टर मारा गया. Also Read - कृष्णानंद राय हत्याकांड के आरोपी राकेश पांडेय को यूपी एसटीएफ ने किया ढेर, मुख्तार गैंग से था ताल्लुक

एसटीएफ की ओर से देर रात जारी बयान के मुताबिक बहराइच जिले के हरदी क्षेत्र स्थित गलकारा अहिरन पुरवा में हुई मुठभेड़ के दौरान गोरखपुर और गोंडा में रंगदारी के अनेक मामलों में वांछित 50,000 रुपए का इनामी बदमाश पन्ने लाल यादव मारा गया. Also Read - Jammu-Kashmir: पुंछ में पाकिस्तान ने दागे गोले, कुलगाम में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच शुरू हुई मुठभेड़

बयान के अनुसार एसटीएफ को सूचना मिली थी कि गोरखपुर जिले के गुलरिहा थाने का हिस्ट्रीशीटर यादव बहराइच के अहिरन पुरवा गांव के बाहर एक झोपड़ी में रहता है. वहां उसने बड़ी संख्या में हथियार और कारतूस जमा कर रखे हैं और वह किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में है. Also Read - समाजवादी पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव की तबीयत बिगड़ी, मेदांता अस्पताल में भर्ती

एसटीएफ की टीम ने उसके घर की घेराबंदी की तो वहां कुछ और लोग भी मौजूद नजर आए. एसटीएफ ने उन सभी को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा तो अंदर मौजूद लोगों ने एसटीएफ जवानों पर गोलियां चलानी शुरू कर दी. जवाबी कार्रवाई में यादव गंभीर रूप से घायल हो गया. उसे पास के ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गयाा, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दियाा.

बयान के मुताबिक यादव के दो साथी मौके से भागने में सफल रहे. यादव पर गोरखपुर, महराजगंज, बाराबंकी, लखनऊ, बहराइच, गोंडा और लखीमपुर खीरी में जघन्य अपराधों के कुल 30 मुकदमे दर्ज थे.