आगरा. विश्व के सात अजूबे में से एक ताममहल में 1 अप्रैल 2018 से आपकी यात्रा सीमित हो जाएगी. भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (एएसआई) ने निर्णय लिया है कि ताजमहल के टिकट की वैद्यता अब सिर्फ तीन घंटे के लिए होगी. यदि कोई यात्री तीन घंटे से ज्यादा समय बिताना चाहता है तो उसे ज्यादा पैसे चुकाने होंगे. यह नियम सभी लोगों के लिए लागू है. Also Read - Taj Mahal Re-Opens: पर्यटकों के लिए छह महीने बाद खुला Taj Mahal, जानें का कर रहे हैं प्लान तो पहले पढ़ लें ये जरूरी बदलाव..

एएसआई ने इसके लिए एक नोटिस जारी की है. इसमें लिखा है, हम तामजहल में अतिरिक्त चार्ज के लिए अभी भी एक मेकेनिज्म पर काम कर रहे हैं. हम टिकट पर अतिरिक्त चार्ज लगा सकते हैं या तीन घंटे से ज्यादा वहां रुकने पर अतिरिक्त चार्ज पर बात कर रहे हैं. इन मुद्दों पर अभी भी निर्णय लिया जा रहा है. Also Read - पर्यटकों के लिए खुशखबरी: इस तारीख से करें ताजमहल का दीदार, जाएं तो ये नियम जान लें

देना होगा अतिरिक्त चार्ज
अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से एएसआई के एक अधिकारी ने कहा, इसके लिए एंट्री और एग्जिट के दौरान टिकट पर टाइमिंग की जांच करनी होगी. स्टांप की जांच के लिए हमें ज्यादा लोगों की आवश्यक्ता होगी. इसके साथ ही अतिरिक्त चार्ज लगाना होगा. Also Read - Taj Mahal: ऐसा क्या हुआ कि ताजमहल का बदला-बदला सा है नजारा, देखें Photos

भीड़ को देखते हुए उठाया गया कदम
रिपोर्ट में कहा गया कि ये कदम ताजमहल में उमड़ रही भीड़ को देखते हुए अठाया गया है. अधिकारियों का कहना है कि वहां ऐसी स्थिति भी देखी गई है कि एक दिन में 50 हजार लोग आ जाते हैं. वहां की जगह निश्चित है और इसे बढ़ाया नहीं जा सकता है. कभी-कभी वहां भीड़ को नियंत्रित करना काफी मुश्किल हो जाता है. रिपोर्ट के मुताबिक, वहां कुछ यात्री सुबह ही आ जाते हैं और ताजमहल के बंद होने तक वापस नहीं जाते हैं. इससे वहां और भी भीड़ बढ़ जाती है.

बता दें कि इस समय ताजमहल में भारतीयों के लिए 40 रुपये का टिकट, सार्क देशों के लोगों के लिए 530 रुपये और दूसरे देशों के नागरिकों के लिए 1000 रुपये टिकट है.