दिल्ली के परिवहन मंत्री गोपाल राय ने यहां शनिवार को कहा कि सम-विषम यातायात योजना को राष्ट्रीय राजधानी में मार्च के बाद फिर से लागू किया जा सकता है, क्योंकि इस योजना के लिए तैयारी की जरूरत है। राय ने एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान आईएएनएस से कहा, “मार्च के बाद सम-विषम यातायात योजना का क्रियान्वयन हम दिल्ली में फिर से देख सकते हैं। हमें इसके लिए कुछ जरूरी तैयारी को अंजाम देना है।”यह भी पढ़े:सुषमा स्वराज ने बहरीन एयर शो का दौरा किया

मंत्री ने कहा कि 10वीं तथा 12वीं की परीक्षाएं फरवरी-मार्च के दौरान होंगे, और यही कारण है कि इस योजना का क्रियान्वयन मार्च के बाद किया जाएगा।राय ने कहा कि सरकार दूसरे चरण में इसके क्रियान्वयन के सभी पहलुओं पर नजर डाल रही है।आम आदमी पार्टी (आप) सरकार की एक चिंता यह है कि इस योजना से लोग एक दूसरी कार खरीदने को प्रेरित हो सकते हैं, जिसके कारण राष्ट्रीय राजधानी की यातायात के लिए एक और परेशानी खड़ी हो जाएगी।

दिल्ली सरकार ने योजना का क्रियान्वयन परीक्षण आधार पर 1-15 जनवरी के बीच किया था। सम संख्या वाले वाहनों का परिचालन सम तारीख के दिन व विषम संख्या वाले वाहनों का परिचालन विषम तारीख के दिन तय किया गया था।मंत्री ने यह भी कहा कि दिल्ली सरकार इस साल के अंत तक अपने बेड़े में तीन हजार अतिरिक्त बसों को शामिल करेगी।