कठुआ। कठुआ केस में सीबीआई जांच की मांग तेज होती जा रही है. इसी मामले पर जम्मू कश्मीर मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने वाले बीजेपी विधायक और पूर्व मंत्री चौधरी लाल सिंह ने आज फिर एक बार मोर्चा निकाला और सीबीआई जांच की मांग दोहराई. लाल सिंह ने मोर्चे की अगुवाई करते हुए कहा कि जिस दिन से इस्तीफा हुआ है मैं सीबीआई जांच की मांग के पीछे पड़ा हूं और मैं ये करवाकर ही छोड़ूंगा.

गैंगरेप के बाद हत्या का आरोप

बता दें कि कठुआ मामला 8 साल की बच्ची से दुष्कर्म और हत्या जुड़ा हुआ है. क्राइम ब्रांच की चार्जशीट के अनुसार इस बच्ची के साथ बंधक बनाकर कई दिनों तक दुष्कर्म होता रहा और फिर बेरहमी से उसकी हत्या कर दी गई. इस मामले में पुलिस ने मंदिर के सेवादार संजीराम शर्मा, उसेक नाबालिग बेटे, भतीजे और दो पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया है. वहीं, आरोपी पक्ष इस मामले को ही गलत बताते हुए इसकी सीबीआई से जांच की मांग कर रहा है. आरोपियों ने भी अपना नारको टेस्ट और सीबीआई जांच की मांग की है. लेकिन राज्य सरकार ने अभी तक ऐसा कोई संकेत नहीं दिया है कि वह मामला सीबीआई को सौंपेगी. ये मामला सुप्रीम कोर्ट तक भी पहुंच गया है.

धरना-प्रदर्शन के कई दौर

जम्मू में वकीलों ने मामले को सीबीआई को सौंपने को लेकर पिछले महीने बंद भी आयोजित किया था. इसके अलावा धरना प्रदर्शन के कई दौर भी चल चुके हैं. कठुआ में वकीलों ने क्राइम ब्रांच को आरोप पत्र दाखिल करने से रोकने की भी कोशिश की थी. आरोप पत्र में लड़की को कथित रूप से अगवा करने, उसे नशीला पदार्थ देने और एक पूजा स्थल में उससे बलात्कार और फिर हत्या करने के बारे में खौफनाक विवरण है.

कठुआ गैंगरेप: आरोपी के वकील ने कहा, जेहादी सीएम हैं महबूबा मुफ्ती

विपक्षी नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने भाजपा के दो मंत्रियों पर कोई कार्रवाई न करने को लेकर मुख्यमंत्री पर हमला बोला था. ये मंत्री आरोपियों के समर्थन में आयोजित एक रैली में शामिल हुए थे. इन्हीं में एक मंत्री थे चौधरी लाल सिंह. चौतरफा आलोचना के बाद भारी दबाव में लाल सिंह को इस्तीफा देना पड़ा था. अब वह एक विधायक के तौर पर कठुआ मामले की सीबीआई जांच की मुहिम चला रहे हैं.