नई दिल्लीः भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों की प्रस्तावित मुलाकात को रद्द किए जाने के बाद से पड़ोसी देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार की तीखी आलोचना कर रहा है. इतना ही नहीं भारत सरकार की आलोचना में वह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को मोहरा बना रहा है. वहां के सीनियर सीनेटर और आंतरिक मामलों के पूर्व मंत्री रहमान मलिक ने पीएम मोदी पर हमला बोलने के लिए राफेल मामले में राहुल के फ्रेस कांफ्रेंस के वीडियो का सहारा लिया. उन्होंने राहुल गांधी को भारत का ‘NEXT PM’ बताते हुए एक ट्वीट पर जवाब दिया कि राहुल गांधी आपके अगले पीएम हैं. वह सार्थक बात करते हैं. उन्होंने राहुल गांधी के वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा- मेरे प्यारे गाली देने वालों. राहुल गांधी के इस प्रेस कांफ्रेंस का वीडियो देखो. क्या आप उनको भी गाली देंगे. ये आपके नेता हैं और वह भी वही बात कर रहे हैं जो हम कह रहे हैं. मुझे उम्मीद है कि इस वीडियो को देखने के बाद आप मुझसे सॉरी बोलेंगे. Also Read - PM Modi Announced Startup Fund: देश में स्टार्ट-अप को मिलेगा बढ़ावा, PM मोदी ने की 1,000 करोड़ रुपये के फंड की घोषणा

इस वीडियो में राहुल को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को यह पता नहीं था कि पीएम मोदी ने राफेल कांट्रेक्ट में बदलाव कर दिया था, क्योंकि वह (पर्रिकर) उस वक्त गोवा में मछली खरीदने में व्यस्त थे. राहुल के इस वीडियो को पोस्ट करने से पहले मलिक ने दावा किया था कि वह पीएम मोदी को एक्स्पोज करेंगे. उन्होंने ट्वीट किया था- पीएम मोदी को गाली न दें. मैं उनके बारे में खुलासा करूंगा कि उन्होंने अपने लोगों और अन्य देशें के साथ कैसे गलत किया है. मुझपर भरोसा कीजिए कि मैं उनके खिलाफ पुख्ता सबूत दूंगा. बाद में उन्होंने कहा कि मैं खुश हूं कि मेरे कुछ ट्वीट भारत में वायरल हो रहे हैं और कुछ भारतीय इससे पहले अपने पीएम के गलत कामों के बारे में नहीं जानते थे.

इमरान खान ने मोदी को अहंकारी बताया
इससे पहले रविवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारतीय नेतृत्व को अहंकारी बताया था. उन्होंने कहा था कि भारत के साथ इस्लामाबाद के दोस्ती के प्रस्ताव को उसकी कमजोरी नहीं समझा जाना चाहिए और भारतीय नेतृत्व को अहंकार त्याग कर शांति वार्ता करनी चाहिए. खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक खत लिखा था जिसमें आतंकवाद और कश्मीर समेत अहम मुद्दों पर द्विपक्षीय वार्ता फिर से शुरू करने की बात कही गई थी.

भारत ने इस महीने न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा के इतर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और उनके पाकिस्तानी समकक्ष शाह महमूद कुरैशी के बीच बातचीत के लिए शुरुआती सहमति भी दे दी थी, लेकिन शुक्रवार को जम्मू कश्मीर में तीन पुलिसवालों की नृशंस हत्या और पाकिस्तान में कश्मीरी आतंकवादी बुरहान वानी को महिमा मंडित की जाने वाली डाक टिकटों के जारी होने के बाद इस प्रस्तावित बैठक को रद्द कर दिया गया था.