मंगलवार देर रात जहर खाकर सुसाइड करने वाले पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल का आज भिवानी में अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मृतक के परिजनों को मुआवजे के तौर पर 1 करोड़ रुपए देिए जाने की घोषणा की है। इसके अलावा एक परिजन को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी। अंतिम संस्कार में राहुल गांधी भी उपस्थित रहे। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भी परिजनों को 10 लाख की आर्थिक मदद और एक सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है। देर रात पूर्व सैनिक का शव उनके पैतृक गांव बामला लाया गया। राहुल गांधी और केजरीवाल के अलावा भी अंतिम संस्कार में नेताओं का जमघट लगा रहा।Also Read - Lockdown In Delhi? दिल्ली में लॉकडाउन लगेगा, Omicron के खतरे पर स्वास्थ्य मंत्री ने दिया ये जवाब

Also Read - दिल्ली में मिला 'Omicron' संक्रमित मरीज तो सीएम केजरीवाल ने की अपील, कहा-घबराने की जरूरत नहीं लेकिन...

‘वन रैंक, वन पेंशन’ के मुद्दे पर सेना के एक पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल ने मंगलवार देर रात सुसाइड कर लिया। इस घटना के बाद बुधवार देर रात तक सियासी संग्राम जारी रहा। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसौदिया को हिरासत में भी लिया गया। मृतक के परिजनों से किसी नेता को मिलने से रोका जा रहा है। केंद्र सरकार एक ओर जहाँ दावे कर रही है कि हमने ओआरओपी लागू करके बहुत बड़ा काम किया है तो वहीं दिल्ली के सीएम का कहना है कि पीएम मोदी वन रैंक वन पेंशन पर सैनिकों के साथ दोखेबाजी कर रही है। Also Read - अरविंद केजरीवाल ने कहा- पंजाब के CM मुझे गाली दे रहे हैं, मेरा रंग काला, लेकिन नीयत साफ है

यह भी पढेंः जब ‘वन रैंक-वन पेंशन’ मोदी सरकार ने लागू कर दिया है तो फिर रामकिशन ने क्यों किया सुसाइड…?

राहुल ने यहां पहुंचकर ग्रेवाल की विधवा, उनके बेटों और परिवार के अन्य सदस्यों से मुलाकात की। उनके साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ, भूपिंदर सिंह हुड्डा, किरण चौधरी, कुलदीप बिश्नोई, सेलजा और अन्य थे। ग्रेवाल के अंतिम संस्कार की तैयारियों के लिए उनके शोक संतप्त परिजन, पड़ोसी, दोस्त और सहयोगी अन्य ग्रामीणों के साथ पहले से ही मौजूद थे। कांग्रेस सांसद दीपिंदर हुड्डा ने भी वहां पहुंचकर ग्रेवाल परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की।

ग्रेवाल परिवार से मिलने के लिए तृणमूल कांग्रेस सांसद डेरेक ओ’ब्रायन भी बामला पहुंच गए हैं। ब्रायन ने यहां संवाददाताओं से कहा, “मैं यहां अपनी नेता ममता बनर्जी के निर्देश के अनुसार (ग्रेवाल) परिवार के साथ मौजूद रहने के लिए आया हूं।”

राजपूताना राइफल्स के पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल (70) हरियाणा में भिावानी के बमला गांव के निवासी थे। उन्होंने मंगलवार की रात दिल्ली के एक पार्क में कथित तौर पर वन रैंक वन पेंशन (ओआरओपी) योजना तत्काल लागू किए जाने की मांग को लेकर जहर खाकर आत्महत्या कर ली।