नई दिल्ली. केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) को भारत का हिस्सा बताते हुए यहां रहने वाले युवक ओसामा अली को वीजा देने का ऐलान किया है. सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर लिखा है कि ‘पीओके भारत का अभिन्न अंग है, उन्होंने आगे लिखा ‘पाकिस्तान ने पीओके को गैरकानूनी तरीके से कब्जा कर लिया है. हम लोग उसे वीजा दे रहे हैं. किसी भी चिट्ठी की जरूरत नहीं है. Also Read - PoK में आतंकियों के ठिकानों पर 'स्ट्राइक'! भारतीय सेना ने रिपोर्ट्स का खंडन किया

पीओके के रावलकोट में रहने वाले 24 साल के ओसामा अली के लीवर में ट्यूमर है. उसके परिवार के लोग अली के इलाज के लिए दिल्ली आना चाहते हैं. लेकिन पाकिस्तान ने इस्लामाबाद में इंडियन हाई कमिशन को जरूरी लेटर लिख कर नहीं दिया. इसके बाद भारत सरकार ने यह कदम उठाया. Also Read - घाटी में पाकिस्तान की तरफ से आतंकियों के घुसपैठ की कोशिश को सेना ने फिर किया नाकाम, देखें VIDEO

गौरतलब हो कि विदेश मंत्री सुषमा ने 10 जुलाई को किसी अन्य मामले के संदर्भ में अजीज द्वारा चिट्ठी जारी करने की जरूरत को दोहराया था. उन्होंने अपने पाकिस्तानी समकक्ष द्वारा शिष्टाचार नहीं दिखाने पर नाराजगी जताई थी. उन्होंने कहा था कि अजीज ने उनके निजी खत पर कोई संज्ञान नहीं लिया, जिसमें उन्होंने कुलभूषण जाधव की मां के लिए पाकिस्तानी वीजा देने की अपील की थी. उन्होंने ट्वीट में कहा, मैंने सरताज अजीज को अवंतिका को वीजा देने के लिए निजी खत लिखा था. हालांकि अजीज ने खत मिलने की जानकारी देने का सामान्य शिष्टाचार भी नहीं दिखाया.

जानिए कौन है ओसामा अली 

24 साल का ओसामा अली POK के रावलकोट का रहने वाला है. ओसामा अली के पिता जावेद नाज खान पेशे से एक वकील हैं. उनके बेटे ओसामा के लीवर में ट्यूमर है. जिसके कारण इलाज के लिए ओसामा के पिता भारत आना चाहतें हैं. यूरोप के मुकाबले भारत में इलाज सस्ता है. जावेद अपने बेटे ओसामा का इलाज दिल्ली के एक निजी अस्पताल में करना चाहते हैं. जहां उन्हें पहले ही डॉक्टरों ने आगाह कर दिया है कि ओसामा का लीवर ट्रांसप्लांट करना होगा. यही कारण है कि ओसामा का परिवार भारत आने की लगातार कोशिश कर रहा है.