श्रीनगर: विदेश मंत्री एस़ जयशंकर सोमवार को औचक दौरे पर कश्मीर पहुंचे और ईरान में फंसे लोगों व छात्रों के परिजन से मुलाकात की. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि केंद्रीय मंत्री सेना के एक वरिष्ठ कमांडर से घाटी में सुरक्षा व्यवस्था की भी जानकारी लेंगे. उन्होंने बताया कि विदेश मंत्री सोमवार सुबह औचक दौरे पर घाटी पहुंचे. जयशंकर ने यहां डल झील के किनारे स्थित कश्मीर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन परिसर में लोगों से मुलाकात की. धिकारियों ने बताया कि ईरान में फंसे लोगों के करीब 100 परिजन परिसर में एकत्र हुए थे.Also Read - संजय राउत का दावा- 100 करोड़ वैक्सीन लगाने का दावा ‘झूठा’, लगे सिर्फ इतने खुराक

Also Read - Zika Virus: यूपी में जीका वायरस की एंट्री, कानपुर में मिला पहला मरीज, स्वास्थ्य विभाग सतर्क

उन्होंने बताया कि ईरान में फंसे कश्मीरी छात्रों और कोम शहर में फंसे जायरीनों के परिजन ने केंद्र से जल्द से जल्द उन्हें हवाई जहाज द्वारा वापस लाने की मांग की. इसके बाद जयशंकर ने उन्हें सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों से अवगत कराया. विदेश मंत्री ने रविवार को कहा था कि ईरान से भारतीयों को वापस लाने के लिए प्रयास जारी हैं. जयशंकर ने ट्विटर पर लिखा था कि ईरान के कोम में फंसे जायरीनों को भारत वापस लाने के प्रयास किए जा रहे हैं. स्क्रीनिंग की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है और अन्य तैयारियों को लेकर ईरानी अधिकारियों से चर्चा की जा रही है. उन्होंने लिखा कि ईरान में भारतीय उच्चायोग इस बारे में गंभीरता से काम कर रहा है. जयंशकर ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘भारतीय उच्चायोग ईरान में भारतीय मछुआरों से लगातार करीबी संपर्क में है और अब तक उनके बीच कोरोना वायरस से संक्रमण का कोई भी मामला सामने नहीं आया है. हम उनके लिए आपूर्ति को सुनिश्चित कर रहे हैं और उनके कल्याण की निगरानी जारी रखेंगे.’ Also Read - पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस की स्थिति और बिगड़ी, नए मामले बढ़े, 12 की मौत

अधिकारियों ने बताया कि परिजन से मुलाकात के बाद विदेश मंत्री ने पर्यटन उद्योग से जुडे लोगों से भी बातचीत की. इस दौरान, लोगों ने उद्योग के समक्ष आने वाली समस्याओं को उठाया. जयशंकर ने यहां मौजूद बुलेवार्ड इलाके में स्थित क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय का दौरा कर कामकाज का जायजा लिया. अधिकारियों ने बताया कि केंद्रीय मंत्री उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले में पासपोर्ट सेवा केंद्र का भी दौरा करेंगे. जयशंकर बारामुला के दोपहर बाद दिल्ली लौटेंगे.