नई दिल्ली: विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतेरेस से मुलाकात की और संयुक्त राष्ट्र सुधार एवं जलवायु परिवर्तन समेत महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव का स्वागत किया. जलवायु परिवर्तन, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद सुधार एवं अन्य आपसी हितों के क्षेत्रों में सार्थक चर्चा हुई.”

गुतेरेस इस विश्व संगठन के प्रमुख के रूप में सोमवार को अपनी पहली भारत यात्रा पर आए हैं. उन्होंने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को संयुक्त राष्ट्र का चैम्पियंस आफ द अर्थ अवार्ड प्रदान किया. गुतेरेस के साथ सुषमा स्वराज की बैठक के बाद विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया, ” विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव का स्वागत किया. जलवायु परिवर्तन, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद सुधार एवं अन्य आपसी हितों के क्षेत्रों में सार्थक चर्चा हुई.”

संयुक्त राष्ट्र महासचिव गुतेरेस ऐसे समय में भारत आए हैं, जब महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष समारोह की शुरूआत हुई है. उन्होंने मंगलवार को महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय स्वच्छता सम्मेलन के समापन कार्यक्रम में भी हिस्सा लिया.

यूएन में सुषमा ने ये बात कही थी
भारत का कहना है कि बहुपक्ष में दृढ़ विश्वास होने के नाते वह जलवायु परिवर्तन से निपटने हेतु नेतृत्व करने के लिए तैयार है.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक हफ्ते पहले बीते 26 सितंबर को जलवायु परिवर्तन पर उच्चस्तरीय बैठक में कहा था , “संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन और पेरिस समझौते के लिए निर्धारित लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु वित्त और प्रौद्योगिकी के लिए विश्व को एक रोडमैप की जरूरत है.” भारत के नेतृत्व के उदाहरण के लिए सुषमा ने अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) का हवाला दिया. उन्होंने कहा था  कि फ्रांस के साथ शुरू किए गए इस कार्यक्रम पर पहले ही 68 देश हस्ताक्षर कर चुके हैं, जिसका उद्देश्य प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करना और लागत को कम करना है.